अपराधब्रेकिंग न्यूजव्यापार

दुल्लहपुर के लापता युवा किराना व्यवसायी की चौथे दिन मिली मौत की सूचना

गाजीपुर। दुल्लहपुर बाजार में युवा किराना व्यवसायी मनीष मद्धेशिया (25) की मौत से हर कोई हैरान है। वह अंतिम बार शुक्रवार की रात  दुल्लहपुर रेलवे स्टेशन पर छपरा इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन मे चढ़ते दिखा। उसके बाद नेपाल से सटे नौतनवां रेलवे स्टेशन (महाराजगंज) पर उसी ट्रेन की बोगी में उसका शव मिलने की सूचना स्वजनों की सूचना सोमवार की सुबह 11 बजे मिली।

नौतनवां जीआरपी से मिली प्रारंभिक सूचना के मुताबिक उसका शव ट्रेन के गार्ड के ठीक पीछे की बोगी की एक सीट पर मिला। उसके शरीर पर बाहरी चोट के कोई निशान नहीं थे। आशंका जताई जा रही है कि मौत की वजह विषपान हो सकता है।

वैसे परिस्थिजन्य साक्ष्य मनीष की मौत के मामले में आत्महत्या की ओर इशारा कर रहे हैं। वह दुल्लहपुर रेलवे स्टेशन पर जाने से पहले अपनी दुकान बंद किया। फिर दुल्लहपुर बाजार में ही ब्यूटी पार्लर गई पत्नी को घर ले गया। पत्नी सास-ससुर का खाना बनाने के लिए दुल्लहपुर बाजार में ही स्थित दूसरे मकान में चली गई। उसके बाद ही मनीष घर के बाहरी दरवाजे में ताला चढ़ा कर वह निकल गया। उसके पूर्व मनीष फोन पर पत्नी को बताया कि  वह एक निमंत्रण में जा रहा है। पत्नी लौट कर दूसरी चाबी से घर का दरवाजा खोली। काफी देर बाद भी जब मनीष नहीं लौटा तब उसने परिवार के अन्य सदस्यों को इसकी सूचना दी।

घर में ही मनीष का फोन तथा दुकान की चाबी मिली। दुकान की बही भी रखी थी। उसमें बकायदा लेनदारी-देनदारी की रकम के साथ ही संबंधित लोगों के नाम अंकित हैं।

मिलनसार और सरल स्वभाव का था मनीष

दुल्लहपुर बाजार के रहने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता अनिल पांडेय बताते हैं कि मनीष मिलनसार और सरल स्वभाव का था। उसकी मौत एकदम से हैरान करने वाली है। श्री पांडेय बताए कि राम मंदिर निर्माण की सहयोग राशि के संग्रह कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को ही शाम को वह खुद अपनी टोली के साथ उसकी दुकान पर पहुंचे थे। उसने टोली को सहर्ष 200 रुपये भी दिए। उसकी रसीद लेते वक्त उसने अपनी फोटो भी खिंचवाई। वही उसकी जीते जी आखिरी फोटो भी है। बल्कि अनिल पांडेय की ओर से फेसबुक पर पोस्ट की गई उसी फोटो से जीआरपी नौतनवां के लिए उसकी पहचान पुष्ट हुई। अनिल पांडेय के अनुसार उस वक्त भी मनीष अपने स्वभाव के मुताबिक बिल्कुल सहज था। श्री पांडेय ने बताया कि जब मनीष के अंतिम बार दुल्लहपुर रेलवे स्टेशन पर देखे जाने की बात सामने आई तब उसके लापता होने की सूचना मय फोटो तथा हाल-मुकाम रेलवे के ऑफिसियल ट्विटर पर टैग किया गया। उसके बाद ही जीआरपी नौतनवां से घरवालों को मनीष के शव मिलने की सूचना आई। मनीष के घरवाले महाराजगंज के लिए रवाना हुए। अब पोस्टमार्टम में ही स्पष्ट होगा कि मनीष की मौत कैसे और किन परिस्थितियों में हुई।

यह भी पढ़ें–मंत्रीजी आएंगे

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort