ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

गरीबों के राशन पर लूट का सिस्टम, कारनामा पूर्ति विभाग का

गाजीपुर पूर्ति विभाग में चल रहे लूट का सिस्टम भी कम रोचक नहीं है। यूं कहे तो इस सिस्टम का एक चेन है। विभागीय इंस्पेक्टर कोटेदारों को लूटते हैं और कोटेदार उसकी भरपाई कार्डधारकों को लूट कर करते हैं। तब यह भी कि विभागीय इंस्पेक्टर भी लूटे जाते होंगे। फिर उनको लूटने वाले भी कहीं न कहीं लुटते होंगे। लूट के इस चेन की और ऊपरी कड़ी भी होगी। यह दावा तो नहीं किया जा सकता लेकिन इसका सहज अंदाजा तो लगाया ही जा सकता है।

यह भी पढ़ें—मुख्तार के ‘गजल’ के बाद ‘शम्मे हुसैनी’ की बारी!

सरकारी पार्टी भाजपा के वरिष्ठ नेता कुंवर रमेश सिंह पप्पू की मानी जाए तो लूट के सिस्टम ने कोविड-19 के इस  महाविपत्ति काल को भी नहीं बख्शा है।

कोविड-19 के संकट से आमजन को उबारने में पूरी सिद्दत से  लगी सूबाई सरकार ने व्यवस्था दी कि सितंबर में राशन कार्डधारकों को दो किलो चना मिलेगा लेकिन कोटेदार यह बताकर कि मात्र एक किलो चना दिया जाना है और उसमें भी घटतौली कर कार्डधारकों को मात्र 900 ग्राम चना उपलब्ध कराए गए।

भाजपा नेता ने डीएम से इस आशय की लिखित शिकायत कर यह भी बताया है कि कोटेदारों से पूर्ति इंस्पेक्टर राशन में प्रति कुंतल 35 रुपये की वसूली करते हैं।

भाजपा नेता ने यह भी बताया है कि विभाग को न सिर्फ कोटेदारों बल्कि सीधे कार्डधारकों का भी आर्थिक दोहन से परहेज नहीं है। हर ब्लाक में विभाग के दलाल सक्रिय हैं। वह कार्ड से यूनिट घटाकर फिर उसे जोड़ने के नाम पर संबंधित कार्डधारकों से वसूली करते हैं।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort