ब्रेकिंग न्यूजराजनीतिशिक्षा

पीजी कॉलेज: अनशनरत दो छात्र नेता पहुंचाए गए अस्पताल, प्रिंसिपल ने जताई अपनी लाचारी

गाजीपुर। पीजी कॉलेज में छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर तीसरे दिन बुधवार को दो भूख हड़ताली छात्र नेताओं की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया गया। बावजूद वह छात्र नेता अपनी हट छोड़ने को तैयार नहीं हैं जबकि कॉलेज प्रशासन उनकी मांग के मामले में खुद की लाचारी की बात दोहरा रहा है।

बेमियादी भूख हड़ताल पर बैठे छात्र नेता प्रवीण पांडेय को चक्कर आने लगा तो दीपक कुमार को उल्टी होने लगी। उनकी नाजुक हो रही हालत देख उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसी बीच जिला अस्पताल के चिकित्सक स्वतंत्र सिंह अनशन स्थल पर पहुंचे और अन्य सभी भूख हड़तालियों का स्वास्थ्य परीक्षण किए।

भूख हड़तालियों की अगुवाई कर रहे पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय ने कहा कि गाजीपुर क्रांतिकारियों की धरती रही है और इतिहास गवाह है कि गाजीपुर के नौजवानों ने हर मौके पर अपने अधिकार के लिए जीवन और मौत की भी परवाह नहीं की है। लिहाजा भूख हड़ताली साथी अपनी आखिरी सांस तक छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर डटे रहेंगे। उनका कहना था कि कॉलेज प्रशासन का रवैया ब्रितानी हुकूमत वाला है। उसकी संवेदना खत्म हो चुकी है। लोकतांत्रिक व्यवस्था की उसे कतई परवाह नहीं है।

भूख हड़ताल के समर्थन में क्षत्रिय युवा महासभा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह के अलावा छात्र नेता सिद्धांत सिंह, शशांक उपाध्याय, शम्मी सिंह, मनीष चौधरी, संपूर्णानंद यादव, शुधांशु तिवारी, नितिन कुमार सिंह, बृजेश सिंह, रूद्र प्रताप चौबे, राजू कुमार कनौजिया, जितेंद्र विश्वकर्मा, कृष्णा यादव, अभिषेक चौरसिया, सौरभ सिंह यादव, दीपक कुशवाहा, अजय यादव, आदित्य देव, अविनाश यादव, कमलेश गुप्त, रोहन यादव, अरुण कुमार, अश्वनी यादव, रघुवीर यादव, मुकेश यादव, जितेंद्र राय आदि धरना दिए।

भूख हड़तालियों के आरोप को लेकर‘आजकल समाचार’ने कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. समर बहादुर सिंह से चर्चा की। उन्होंने स्पष्ट कहा कि कॉलेज प्रशासन सिद्धांत: छात्रसंघ चुनाव के पक्ष में है लेकिन इधर परीक्षाएं चल रही हैं। फिर होली की छुट्टी होगी। उसके बाद फिर परीक्षाएं संभावित हैं। इस दशा में छात्रसंघ चुनाव संपादित कराना संभव नहीं होगा। पूरी चुनावी प्रक्रिया में कम से कम दो सप्ताह का वक्त लगता है। अपनी बात में प्रिंसिपल यह भी जोड़े कि अगर विश्वविद्यालय मई में परीक्षा का कर्यक्रम घोषित करेगा तो कॉलेज प्रशासन अप्रैल में छात्रसंघ चुनाव करा दिया जाएगा। बताए कि वह इस बात से डीएम व एसपी को भी अवगत करा चुके हैं।

यह भी पढ़ें—…और फांसी से पहले

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort