परिवहनब्रेकिंग न्यूजराजनीति

एमएलसी अरविंद शर्मा का फिर दिखा रसूख, मऊ को मिली और एक ट्रेन

गाजीपुर। मनोज सिन्हा के एलजी बन कर जम्मू-कश्मीर जाने के बाद क्या पूर्वांचल को उनका विकल्प मिल गया है। कम से कम रेल मंत्रालय के संदर्भ में तो इस क्या का जवाब हां में कहा जा सकता है। नौकरशाह से सियासतदां बने एमएलसी अरविंद शर्मा के जरिये रेल मंत्रालय में पूर्वांचल की कमोवेश उसी ठसक, चमक का एहसास हो रहा है, जो मनोज सिन्हा के रेल राज्य मंत्री रहते होता था। फर्क बस यही है कि श्री सिन्हा के काल में रेल मंत्रालय के लिए पूर्वांचल का गाजीपुर फोकस में था जबकि अरविंद शर्मा की प्राथमिकता सूची में  उनका गृह जिला मऊ है।

पिछले महीने मऊ से दिल्ली के बीच ट्रेन शुरू हुई। उस ट्रेन का श्रेय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एमएलसी शर्मा को दिया। उस आशय का उन्होंने खुद ट्वीट भी किया था और अब 14 फरवरी से मऊ से आनंद विहार के लिए एक सुपरफास्ट ट्रेन प्रस्तावित है। रेल मंत्री वर्चुअल झंडी दिखाकर उसे रवाना करेंगे।
पूर्व सूचना के तहत मऊ से आनंद विहार स्टेशन के बीच उस सुपर फॉस्ट ट्रेन का केवल दो स्टॉपेज जौनपुर और कानपुर सेंट्रल रखा गया था लेकिन अब उसके स्टॉपेज में औड़िहार, सुल्तानपुर तथा लखनऊ को भी शामिल कर दिया गया है। मऊ से यह ट्रेन हर सप्ताह मंगलवार व शुक्रवार को रवाना होगी जबकि आनंद विहार से बुधवार तथा शानिवार को इसकी रवानगी निश्चित रहेगी।

डीआरएम वीके पंजियार ने बुधवार को मऊ जंक्शन स्टेशन पहुंचकर प्रस्तावित सुपर फॉस्ट ट्रेन के परिचालन के शुभारंभ कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा के साथ ही स्टेशन पर यात्री सुविधाओं वगैरह का निरीक्षण किया। बकौल अशोक कुमार पीआरओ वाराणसी मंडल पूर्वोत्तर रेलवे, इस सुपर फॉस्ट ट्रेन में सभी नई डिजाइन के डब्बे लगेंगे।

यह भी पढ़ें–वाकई! विधायक पड़ीं अलग-थलग

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

 

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort