ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

शहीद पुत्र जितेंद्र राय घोष अब नहीं रहे

भांवरकोल (गाजीपुर)। क्रांतिकारियों के गांव शेरपुर के अमर शहीद रिषेश्वर राय के इकलौते पुत्र जितेंन्द्र राय घोष (82) अब नहीं रहे। हृदयाघात के कारण उनके प्राण पखेरू उड़ गए।

गुरुवार की सुबह वह अपने गाजीपुर आवास पर नित्यकर्म के बाद बैठे थे। उसी बीच सीने में तेज दर्द उठा और वह अचेत हो गए। स्वजन उन्हें जिला अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। उनके निधन की खबर फैलने के बाद राजनीतिक, समाजसेवियों का आवास पर तांता लग गया। दाह संस्कार उनके पैतृक गांव शेरपुर में गंगा घाट पर हुआ। उनकी अंतिम यात्रा में भी काफी संख्या में राजनीतिक, समाजसेवी शामिल थे। मुखाग्नि उनके बड़े पुत्र क्रांति कुमार राय ने दी। जितेंद्र राय जनवादी चिंतक और समाजसेवी थे।

यह भी पढ़ें–अरे! चेयरमैन के कुनबे संग चीटिंग

 ‘आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button