ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

गहमर थाने के इंचार्च बने इंस्पेक्टर अनिल पांडेय, दिलीप सिंह बुलाए गए लाइन

गाजीपुर। जिले का सबसे अधिक मलाईदार थाना माने जाने वाले गहमर के इंचार्ज की कुर्सी पर `गिद्ध दृष्टि` लगाए अन्य इंस्पेक्टरों को निराशा ही हाथ लगी है। शुक्रवार की देर रात पुलिस कप्तान डॉ. ओम प्रकाश सिंह ने वह कुर्सी इंस्पेक्टर अनिल पांडेय को सौंप दी।

बिहार का सरहदी थाना गहमर का प्रभार अनिल पांडेय को मिलने पर सियासी हलके में भी हैरानी जताई जा रही है। देखा जाए तो अनिल पांडेय की छवि बहुत साफ सुथरी नहीं रही है। पिछले साल मार्च में उन्हें कासिमाबाद थाना इंचार्ज के पद से निलंबित किया गया था। वह कार्रवाई एक नाबालिग संग दुष्कर्म के मामले में लापरवाही के आरोप में हुई थी। उसके बाद से वह पुलिस ऑफिस में ही अटैच थे। जाहिर है कि बाद में उन्हें क्लीन चिट मिलने के साथ ही उनका निलंबन भी वापस ले लिया गया था। यह भी इत्तेफाक ही है कि निलंबन की वह कार्रवाई भी पुलिस कप्तान डॉ. ओम प्रकाश सिंह के हाथों ही हुई थी।

अनिल पांडेय की गहमर थाने पर तैनाती दिलीप सिंह के स्थान पर हुई है। उन्हें पुलिस लाइन में बुला लिया गया है। दरअसल कुछ दिनों पहले गैर रेंज के लिए उनका तबादला हो गया था लेकिन बीच में पड़े त्योहारों की संवेदना के कारण उन्हें अब तक गहमर के इंचार्ज के पद से कार्यमुक्त नहीं किया गया था। अब माना जा रहा है कि गैर रेंज रवानगी के लिए ही वह पुलिस लाइन आए हैं। हालांकि दिलीप सिंह के साथ ही इंस्पेक्टरों में एसएचओ दिलदारनगर धर्मेंद्र पांडेय तथा एसएचओ सुहवल सुदेश कुमार का भी गैर रेंज के लिए तबादला आदेश आया था। अब यह दोनों लोग कब गाजीपुर से कार्यमुक्त होंगे। यह देखना है।

वह तबादला आदेश आने के बाद से ही इंस्पेक्टर गहमर इंचार्ज बनने की जुगत में लग गए थे । इसके लिए वह अपनी पहुंच और प्रभाव के जरिये भी गुंजाइश तलाश रहे थे। इसी बीच पुलिस कप्तान ने गहमर थाने के नए इंचार्ज के रूप में अनिल पांडे के नाम पर अपनी मुहर लगा दी।

यह भी पढ़ें–मनोज सिन्हा बुलाए और लूट ली…

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

 

 

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort