अपराधब्रेकिंग न्यूजराजनीति

बीडीओ करंडा पर कातिलाने हमले में ब्लॉक प्रमुख पर भी कार्रवाई जरूरीः अरुण सिंह

गाजीपुर। जिला सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन अरुण सिंह बीडीओ करंडा पर कातिलाने हमले पर गहरी चिंता जताई है और इस मामले में कार्रवाई को लेकर डीएम तथा पुलिस कप्तान को साधुवाद दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि इस पूरे प्रकरण की जड़ में करंडा ब्लॉक प्रमुख हैं और उनके विरुद्ध भी कार्रवाई होनी चाहिए।

एक हत्या के मामले में नैनी जेल में निरुद्ध अरुण सिंह का यह बयान उनके हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजशेखर सिंह के जरिये आया है। अरुण सिंह का कहना है कि करंडा बीडीओ पर हमले की घटना कोई सामान्य घटना नहीं है। बल्कि अपराधियों पर योगी सरकार की सख्ती को सीधी चुनौती सरीखी है। इस मामले की और गहराई से तहकीकात की जाए तो तय है कि इस पूरे मामले में करंडा ब्लॉक प्रमुख की भूमिका सामने आएगी। हालांकि अरुण सिंह ने अपने बयान में करंडा ब्लॉक प्रमुख आशीष यादव का नाम नहीं लिया है मगर यह जरूर कहा है कि बीडीओ पर हमले का मास्टर माइंड करंडा ब्लॉक प्रमुख हैं। उन्होंने यहां तक कहा है कि यह वही शख्स है जो सपा राज के वक्त साल 2015 में दो कुख्यात तस्करों को पुलिस हिरासत से भगाया था।

अरुण सिंह के अनुसार उनके संयोजकत्व वाली सर्वदलीय संघर्ष समिति की ओर से मुख्यमंत्री, डीएम तथा एसपी से लिखित तौर पर दरख्वास्त की जाएगी कि करंडा बीडीओ पर कातिलाने हमले में ब्लॉक प्रमुख करंडा की भूमिका की जांच कर उनके विरुद्ध भी न्यायोचित कार्रवाई की जाए।

मालूम हो कि बीडीओ करंडा अनिल श्रीवास्तव पर बीते 25 मई की रात हमला हुआ था। उस मामले में करंडा पुलिस ब्लॉक प्रमुख आशीष यादव के चचेरे भाई राहुल यादव और निजी गनर सुरेश चंद्र त्रिपाठी को बीते 15 जून को जेल भेज चुकी है।

यह भी पढ़ें–ऐसा! पहचान छुपाने की गरज

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort