ब्रेकिंग न्यूजसख्शियत

डॉ.पीएन सिंह पंचतत्व में विलीन, सैकड़ों प्रशंसकों ने नम आंखों से दी अंतिम बिदाई

गाजीपुर। प्रख्यात समालोचक एवं शिक्षाविद् डॉ.पीएन सिंह सोमवार की शाम पंचतत्व में विलीन हो गए। दाह संस्कार गाजीपुर श्मशान घाट पर हुआ। मुखाग्नि उनके भतीजे अरुण सिंह ने दी। सैकड़ों की तादात में मौजूद उनके प्रशंसकों ने उन्हें मन आंखों से विदाई दी। उनमें राजनीतिक, समाजसेवी, बुद्धिजीवी, नौकरशाह तक शामिल रहे।

डॉ.पीएन सिंह की अंतिम यात्रा गौतम बुद्ध नगर कॉलोनी से शुरू हुई। पार्थिव शरीर फूल मालाओं से सजे एक वाहन पर रखा था। सबसे पहले पार्थिव शरीर जनता के अंतिम दर्शन के लिए भाकपा कार्यालय भारद्वाज भवन स्टेशन रोड पर रखा गया। उसके बाद अंतिम यात्रा श्मशान घाट पहुंची। अंतिम यात्रा में डॉ.पीएन सिंह अमर रहे का नारा गूंजता रहा। रास्ते में कई जगह मौजूद उनको चाहने वालों ने पुष्पांजलि अर्पित की।

अंतिम विदाई देने पहुंचे लोगों में पूर्व मंत्री ओम प्रकाश सिंह, पूर्व विधायक द्वय सिब्गतुल्लाह अंसारी व राजेंद्र यादव, आईएएस जय सिंह, सेवा निवृत्त आईएएस संजीव कुमार सिंह, प्रो.सदानंद शाही, प्रो.अवधेश प्रधान, पूर्व प्राचार्य अनिल कुमार सिंह, डॉ.एमडी सिंह, डॉ.अशोक कुमार सिंह, डा.सानंद सिंह, ईश्वर चंद, बद्रीनाथ सिंह, राजनारायण सिंह, ओमप्रकाश श्रीवास्तव, कमलेश सिंह लाला, रामनगीना कुशवाहा, महेश चंद्र लाल, गजाधर शर्मा गंगेश, रामावतार, राम प्रकाश कुशवाहा, अजय राय,धर्म नारायण मिश्र, डॉ.फतह मुहम्मद, अखिलेश्वर प्रसाद सिंह, पूर्व ब्लाक प्रमुख रमायण यादव ,अजय श्रीवास्तव, इरफान, रामभवन दुबे, राकेश कुमार सिंह, संजय राय सुमन, महंत तिवारी, ग्राम प्रधान धर्मेंद्र सिंह, राहुल सिंह आदि प्रमुख रहे।

मालूम हो कि डॉ.पीएन सिंह का रविवार की देर शाम निधन हुआ था। तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें सिंह हॉस्पिटल जमानियां मोड़ के आईसीयू में दाखिल कराया गया था। वह 82 वर्ष के थे।

यह भी जरूर सुनें–वाह! पूर्व मंत्री को इतनी अहमियत!

 ‘आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button