ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

मनिहारी ब्लाक मुख्यालय में डीडीओ ने मारा छापा, मनरेगा की पत्रावली की जब्त

गाजीपुर। मनिहारी ब्लाक मुख्यालय पर प्रशासन की भृकुटी तन गई लगती है। मंगलवार की शाम डीडीओ भूषण कुमार वहां छापा मारे और विकास कार्यों से जुड़ी कई अहम पत्रावली का अवलोकन के साथ ही मनरेगा से संबंधित पत्रावली अपने कब्जे में लेकर जिला मुख्यालय लौट आए।

डीडीओ की इस कार्रवाई से ब्लाक कर्मियों में खलबली मच गई थी। छापेमारी में मनरेगा पत्रावलियों की जब्ती को लेकर संबंधित अधिकारी और कर्मचारी सहमे हैं।

इस संबंध में डीडीओ से ‘आजकल समाचार’ ने संपर्क किया। उन्होंने माना कि वह मनिहारी ब्लाक मुख्यालय पर औचक पहुंचे थे और मनरेगा से जुड़ी पत्रावलियां जांच के लिए अपने साथ ले आए हैं। बताए कि मनरेगा के हुए कार्यों के मस्टरोल संबंधित ग्राम पंचायतों को उपलब्ध नहीं कराए गए हैं और यह नियम विरुद्ध है। उन्होंने बताया कि ब्लाक मुख्यालय से कब्जे में ली गई हर पत्रावली की सूक्ष्मता से जांच की जा रही है और गड़बड़ी मिलने पर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें—रक्षा मंत्री के रिश्तेदार ने ठोकी ताल

मालूम हो कि इसके पूर्व सीडीओ के आदेश पर मनिहारी ब्लाक में हुए तालाब निर्माण के कार्यों की तकनीकी जांच चल रही है।

मनिहारी ब्लाक को लेकर प्रशासन की इस खास ‘दिलचस्पी’ के राजनीतिक मतलब भी निकाले जा रहे हैं। ब्लाक प्रमुख प्रियंका सिंह के पति योगेंद्र सिंह भाजपा एमएलसी विशाल सिंह चंचल के बेहद करीब माने जाते हैं। बावजूद प्रशासन की तल्खी के पीछे के कारणों को लेकर राजनीतिक हलके में चर्चा भी हो रही है। एक चर्चा तो यह भी है कि भाजपा जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह के गांव बरहट में मनरेगा से तालाब निर्माण में अनियमितताएं हुईं। उनकी शिकायत पर प्रशास ने मनरेगा से ब्लाक भर में हुए तालाब निर्माण की जांच शुरू करा दी। इसको लेकर ब्लाक प्रमुख पति की ओर से भाजपा जिलाध्यक्ष के लिए तीखी प्रतिक्रिया हुई और अब इसी प्रतिक्रिया से डीडीओ की छापेमारी को जोड़ा जा रहा है।

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort