ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

बहू को प्रमुख बनाने के लिए भाजपा नेता ने सांसद अफजाल अंसारी से मांगा समर्थन

गाजीपुर। सियासत में यह परतियायी बात है कि न कोई स्थाई दोस्त होता है और न स्थाई दुश्मन। आज जिसे ललकारा जा रहा है, हैरानी नहीं कि कल उसी से रिरियाना पड़ जाए। भांवरकोल ब्लॉक प्रमुख चुनाव को लेकर बिसात बिछाने की कोशिश में ऐसा ही एक वाकया हुआ है।

अंसारी बंधुओं के धुर सियासी विरोधी भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय शंकर राय ने अफजाल अंसारी को फोन कर ब्लॉक प्रमुख पद की दावेदार अपनी बहू शोभा राय पत्नी योगेश राय के लिए उनका समर्थन मांगा। दरअसल भाजपा विधायक अलका राय की बहू श्रद्धा राय पत्नी आनंद राय मुन्ना भी प्रमुख पद की दावेदार हैं।

भरोसेमंद सूत्रों ने बताया कि इस बातचीत में विजय शंकर राय ने चुनाव के मसले पर अफजाल अंसारी से कहीं आमने-सामने बैठकर मंत्रणा तक की पेशकश की। हालांकि सूत्रों ने यह बताने से साफ मना कर दिया कि दोनोंजन में यह बात किस दिन और कब हुई लेकिन सूत्रों ने यह जरूर बताया कि अफजाल अंसारी ने कहा कि प्रमुख के चुनाव में वह भाजपा विधायक परिवार को कतई वाकओवर नहीं देंगे। अपना खुद का उम्मीदवार उतारेंगे। रही भांवरकोल क्षेत्र पंचायत में अपने संख्या बल की बात तो वक्त आने पर वह दिखा भी देंगे। बल्कि इस क्रम में अफजाल निवर्तमान प्रमुख अंजू यादव का नाम भी लिए। दुश्मन का दुश्मन दोस्त के अंदाज में विजय शंकर राय ने सांसद अफजाल अंसारी से समर्थन देने की बात कही। तब अफजाल ने कहा कि इसके एवज में उन्हें क्या सियासी लाभ मिलेगा।

बावजूद विजय शंकर राय की ओर से अपनी बात बार-बार दोहराने पर अफजाल ने कहा कि अगर वह उनका समर्थन वास्तव में चाहते ही हैं तो यह काम अंदरखाने नहीं होगा। बल्कि इसे उन्हें डंके की चोट पर जमाने को बताना होगा।

करीब 20 मिनट तक चली इस टेलीफोनिक बतकही में ज्यादातर अफजाल ही बोलते रहे जबकि विजय शंकर राय हां-हू ही करते रहे। इस क्रम में अफजाल सालों पहले अपने संग हुए विरोधी सियासी घटनाक्रमों को भी उद्घाटित किए। फिर भांवरकोल प्रमुख पद के लिए विधायक परिवार के चल रहे ‘अभियान’ का भी जिक्र किए।…और अंत में फिर बात करने का अफजाल से वादा लेकर विजय शंकर राय ने विदा लिया।

यह भी पढ़ें–भाजपा की एक ‘देवी’ यह भी

आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

 

 

Related Articles

Back to top button