अपराधब्रेकिंग न्यूज

हमीद सेतु पर सक्रिय वसूली गैंग का हेल्पर हेंड को डीएम ने रंगे हाथ दबोचा

गाजीपुर। हमीद सेतु पर ओवर लोडेड गाडियों को पास कराने का गोरख धंधा लंबे वक्त से चल रहा था। गुरुवार को वाहन ट्रेस पासिंग कराने वाले गैंग के सक्रिय सदस्य को डीएम ने रंगे हाथों पकड़ लिया। ट्रेस पासिंग गैंग को पुलिस और मानिंद हस्तियों का संरक्षण प्राप्त बताया जा रहा है। इस गैंग की कारगुजारियों का ही प्रतिफल है कि हमीद सेतु के बैरिंग आए दिन डैमेज होते रहे हैं जिससे गंगा पार के इलाके का बड़ा हिस्सा जिला मुख्यालय से कट जाता है।

यह भी पढ़ें—विधायक का दबाव, तीन दिन भी नहीं टिके सीओ

इस गुर्गे के हाथ लगने से उम्मीद जताई जा रही है कि ट्रेस पासर गैंग का मोडस ऑपरेंडी अब डिकोड कर लिया जाएगा। गंगा पार जामानियां क्षेत्र के धान केंद्रों का निरीक्षण कर लौट रहे डीएम एमपी सिंह के काफिले के आगे चल रहे ट्रक पर उनकी निगाहें गई तो उन्हें इस गैंग की गतिविधियों की पूर्व में मिलती रही शिकायतें पुष्ट हो गईं।

डीएम एमपी सिंह ने देखा की ट्रक की रफ्तार धिमी होते ही एक व्यक्ति उसके समीप पहुंच वसूली करते दिखा। यह देख डीएम ने अपने साथ चल रहे सिक्योरिटी गार्ड्स को आदेशित कर वसूली करने वाले को पकड़ने के लिए कहा। गार्ड्स को अपनी तरफ आते देख वह भागने लगा जिसे गार्ड्स ने दौड़ाकर पकड़ लिया। उसके बाद उसे सीधे डीएम कैंप ऑफिस लाया गया। जहां डीएम ने खुद फेस-टू-फेस इंट्रोगेशन शुरू किया। इंट्रोगेशन के जरिये डीएम एमपी सिंह वसूली नेक्सस के मास्टर माइंड के नाम का खुलासा चाहते थे। उसी बीच उसके फोन पर कट-टू-कट कॉल आने लगी। डीएम के आदेश से मौके पर मौजूद एक अधिकारी ने जब कॉल रिसीव की तो सभी के होश फ़ाख्ता हो गए। कॉल किसी और की नहीं बल्कि रेगुलर क्लाइंट्स की थी, जो कि ओवर लोडेड गाड़ियों को पास कराने के रोस्टर की जानकारी चाहता था। इस फोन कॉल ने वसूली गैंग के स्याह खेल को डिकोड करके रख दिया। वहीं से डीएम ने कोतवाल को तलब कर वसूली गैंग के इस हेल्पर को कड़ी सजा देने की हिदायत के साथ जेल भेजने का आदेश दिया। साथ ही डीएम ने उसके फोन को अपनी कस्टडी में रखते हु्ए कॉल डिटेल निकलवा वसूली गैंग को क्रैक करने की बात कही।

इधर शहर कोतवाल ने बताया कि गिरफ्त में आए बृजेश सिंह के विरुद्ध रंगदारी वसूलने का मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई होगी। बृजेश सिंह उर्फ लंकेश थाना सुहवल के मेदनीपुर गांव का रहने वाला है। गांव वालों की मानी जाए तो वह पुलिस के सरंक्षण में संचालित वसूली गैंग का की-प्वांइट-पर्सन है। दिखावे के लिए लंकेश अपने गांव की चट्टी पर पान की दुकान चलाता रहा है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort