ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

विधायक त्रिवेणी राम पर भाजपाइयों को एतबार नहीं, डीएम से दखल देने की लगाए गुहार

गाजीपुर। जखनियां विधायक त्रिवेणी राम पर इलाकाई भाजपाइयों को तनिक भी एतबार नहीं है। उनका प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्घन योजना को लेकर डीएम से मिला और कहा कि वह इस योजना में हस्तक्षेप कर उसका लाभ यथोचित स्थान को दिलवाएं। जखनिया विधायक अपने पद का दुरुपयोग कर कहीं अन्यत्र योजना का क्रियान्वयन करना चाहते हैं। इसके पीछे वह अपना राजनीतिक, आर्थिक स्वार्थ साधने के फेर में हैं।

यह भी पढ़ें—डॉ. पीएन सिंह को मिला सम्मान

प्रतिनिधिमंडल के अगुवा जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि अनिल पांडेय ने कहा कि  डीएम इस महत्वपूर्ण जानकारी को संज्ञान में लेते हुए मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का कार्य करें जिससे क्षेत्र का सर्वांगीण विकास संभव हो सके।

श्री पांडेय ने कहा कि योजना के तहत प्रदेश के समस्त धार्मिक, पौराणिक तथा ऐतिहासिक स्थलों का पर्यटन विकास किया जाना है। इसके लिए विधायकों से प्रस्ताव मांगें गए हैं लेकिन विधायक त्रिवेणी राम इस कार्य के प्रति उदासीन हैं एवं पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाते हुए इस प्रस्ताव में भी कमीशन की इच्छा रखते हैं। इसलिए क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ता चाहते हैं कि क्षेत्र की गरिमा एवं गौरव के प्रतीक सिद्धपीठ हथियाराम, भीखा गुलाल सिद्धपीठ भुड़कुड़ा, टंडवा भवानी मंदिर, राष्ट्रीय चिंतक परमहंस दंडी स्वामी सहजानंद सरस्वती जन्म स्थली ग्राम देवा, जलाल साहब की धरती जलालाबाद में बरसों पुराने बूढ़ा महादेव मंदिर अथवा हरदासपुर कला के पराशर जी ब्रह्मस्थान को इस योजना के तहत विकसित किया जाए। प्रतिनिधिमंडल में जिला पंचायत सदस्य अवधेश यति, रामानंद जायसवाल, रुद्र प्रताप सिंह तथा शिव नारायण प्रजापति भी शामिल थे।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort