अपराधब्रेकिंग न्यूजराजनीति

मुख्तार को थी सड़क मार्ग से लाने की तैयारी मगर पुलिस टीम को रोपड़ से लौटना पड़ा बैरंग

गाजीपुर। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को लाने के लिए पंजाब के रोपड़ पहुंची गाजीपुर पुलिस टीम को बैरंग लौटना पड़ा। मुख्तार को एमपी-एमएलए कोर्ट प्रयागराज में 21 अक्टूबर को पेश करना है। मुख्तार इन दिनों रोपड़ जेल में निरुद्ध हैं।

इसके लिए मुख्तार को सड़क मार्ग से लाने की तैयारी थी। एक इंस्पेक्टर की अगुवाई में पुलिस लाइन से छांटकर चुस्त-दुरुस्त एसआई और 14 कांस्टेबल रोपड़ रवाना किए गए थे। वह रविवार को रोपड़ पहुंच गए थे। सोमवार को टीम की अगुवाई कर रहे इंस्पेक्टर मय एसआई रोपड़ जेल गए और एमपी-एमएलए कोर्ट प्रयागराज का प्रोटेक्शन वारंट तामिल कराए लेकिन रोपड़ जेल के अधिकारियों ने मुख्तार को सौंपने से साफ मना कर दिया। बताया कि मुख्तार की तबीयत इस वक्त बेहद नासाज है। उनकी दशा ऐसी नहीं है कि वह कहीं जा सकें। रोपड़ जेल अधिकारियों ने अपनी बात की पुष्टि में सिविल सर्जन दविंदर कुमार के निर्देशन में गठित तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड की जांच रिपोर्ट का हवाला दिया। रिपोर्ट में मुख्तार को रीढ़ में परेशानी, सुगर, डिप्रेसन से ग्रस्त बताया गया है। रिपोर्ट में मुख्तार को तीन माह की कम्पलीट बेड रेस्ट की सलाह दी गई है।

यह भी पढ़ें–सौ दिन चोर का, एक दिन पुलिस का

रोपड़ जेल अधिकारियों से नकारात्मक जवाब पाकर गाजीपुर पुलिस टीम सड़क मार्ग से वापसी के लिए चल पड़ी। मंगलवार की शाम पौने छह बजे पुलिस कप्तान डॉ.ओमप्रकाश सिंह से ‘गाजीपुर आजकल’ ने संपर्क किया। उन्होंने बताया कि विभागीय गाड़ियों से रोपड़ गई टीम देर शाम तक गाजीपुर लौट आएगी।

मुख्तार पर मुहम्मदाबाद कोतवाली में फर्जी नाम-पते पर असलहे का लाइसेंस हासिल करने की केस दर्ज है। उसकी सुनवाई एमपी-एमएलए कोर्ट में चल रही है और उसी सिलसिले में मुख्तार के लिए वहां से प्रोटेक्शन वारंट जारी हुआ है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort