अपराधब्रेकिंग न्यूज

मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास की कामर्शियल बिल्डिंग कुर्क

गाजीपुर। विधायक मुख्तार अंसारी के बड़े बेटे अब्बास अंसारी की कामर्शियल बिल्डिंग सोमवार की दोपहर प्रशासन ने कुर्क कर ली। यह बिल्डिंग शहर से बिल्कुल सटे टेढ़वा (रजदेपुर देहाती) में बनी है। बाजार में उसकी मौजूदा बाजार कीमत करीब एक करोड़ 40 लाख रुपये आंकी गई है। उस बिल्डिंग में कोचिंग संस्थान एल-वन और वी बाजार संचालित हो रहा था।

सीओ सिटी ओजस्वी चावला, सदर तहसीलदार मय फोर्स मौके पर पहुंचे और बकायदा मुनादी करा कर बिल्डिंग की कुर्की की कार्रवाई की। इस मौके पर काफी संख्या में तमाशबीन भी एकत्र हो गए थे। हालांकि प्रशासन की कुर्की की तैयारी रविवार को थी मगर संबंधित राजस्व अधिकारियों की अन्यत्र व्यस्तता के कारण उसे एक दिन के लिए टाल दिया गया था। कुर्क हुई बिल्डिंग के भूखंड का मालिकाना हक पहले एक हममजहबी वरिष्ठ व्यापारी नेता के खानदान से जुड़े एक परिवार का था मगर उस परिवार ने रजामंदी से उसे अब्बास अंसारी के नाम कर दिया था। कुर्की की कार्रवाई गैंगस्टर एक्ट के तहत डीएम एमपी सिंह के आदेश पर हुई।

यह भी पढ़ें–झूठा कौन, थानेदार कि सफाई कर्मी

मालूम हो कि शनिवार की शाम मुख्तार की पत्नी आफ्शां अंसारी और दो सालों सरजील रजा व अनवर सहजाद के शहर कोतवाली के बवेड़ी गांव स्थित भूखंड को मुनादी के साथ कुर्क कर लिया गया था। उसकी मौजूदा बाजार कीमत करीब दो करोड रुपये आंकी गई थी। वह कार्रवाई भी गैंगस्टर एक्ट के तहत डीएम एमपी सिंह के आदेश पर ही हुई थी। मुख्तार के दोनों बेटे अब्बास और उमर को लखनऊ पुलिस एक मामले में तलाश रही है। उन पर 25 हजार रुपये का ईनाम घोषित है जबकि गाजीपुर पुलिस को मुख्तार की पत्नी अफ्शां अंसारी की तलाश है। उन पर भी 25 हजार का ईनाम घोषित है और खुद विधायक मुख्तार पंजाब की रोपड़ जेल में निरुद्ध हैं।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort