खेती-बारीब्रेकिंग न्यूज

मिर्च, टमाटर, मटर और केला के किसानों को भी मिलेगी क्षतिपूर्ति

गाजीपुर (राहुल पांडेय)। नकदी फसल की खेती करने वाले गाजीपुर के किसानों के लिए सुकून की खबर है। अब मटर, टमाटर, मिर्च और केले की फसल का भी बीमा होगा।  किसानों को यह लाभ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मिलेगा।

यह भी पढ़ें—पुलिस बनाम युवा सपाई

करीब दो दशक से गाजीपुर में नकदी फसल की खेती में किसान मिर्च, मटर, टमाटर, प्याज पर जोर दे रहे है। खासकर मुहम्मदाबाद, जमानियां और सदर तहसील क्षेत्र में इनकी बड़े पैमाने पर खेती होती है। जिला उद्यान अधिकारी सतेंद्र दूबे के मुताबिक अकेले इस साल ही मिर्च की करीब दो हजार हेक्टेयर में खेती हुई है। इसी तरह करीब 300 हेक्टेयर में केले की फसल खड़ी है।

किसानों का दुर्भाग्य रहा है कि   प्राय: हर साल यह फसलें अतिवृष्टि और बाढ़ से मारी जाती हैं। परिणाम किसान आर्थिक रूप से टूट जाते हैं। जाहिर है कि इन फसलों की खेती करने वाले ज्यादातर किसानों में भूमिहीन होते हैं और खेत पेशगी, बटाई पर लेते हैं। खाद, बीज के लिए भी उन्हें कर्ज लेना पड़ता है। बावजूद यह अब तक फसल बीमा योजना के दायरे से बाहर रहे हैं। इस योजना में कृषि सत्र रवि व खरीफ की परंपरागत फसल धान, गेहूं, बाजरा वगैरह ही शामिल रही है।

हालांकि किसान नकदी फसलों को भी बीमा योजना से जोड़ने की अर्से से मांग करते रहे हैं। मजे की बात जनप्रतिनिधि भी इस मामले में उदासीन ही रहे हैं। जाहिर है अब जबकि इन नकदी फसलों को भी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जोड़ा गया है तो किसानों के लिए यह सुकून की बात है।

इस संबंध में सदर विधायक डॉ. संगीता बलवंत खुशी जाहिर करते हुए इसका श्रेय अपनी पार्टी भाजपा की सरकार को देती हैं। कहती हैं- इससे भी साबित होता है कि भाजपा सरकार किसानों के हितों को लेकर कितनी चिंतित और तत्पर है। उधर केले की खेती करने वाले किसान कासिमाबाद ब्लाक के मुबारकपुरनेत निवासी रवि राय का कहना है कि बीमा योजना से उनके जैसे किसानों का उत्साह और बढ़ा है।

बीमा का ऐसे लाभ उठाएं किसान 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को इन बातों का ध्यान रखना होगा। पहले तो वह टमाटर, मिर्च, मटर और केला की खेती से पहले कुल प्रस्तावित लागत का पांच फीसद हिस्से की रकम बतौर बीमा प्रीमियम जमा करना होगा। केले की फसल का बीमा प्रीमियम 30 जून तक जमा होगा। मिर्च का 31 जुलाई, टमाटर 30 नवंबर और मटर का बीमा प्रीमियम 14 दिसंबर तक देय होगा। इसी तरह बीमा क्लेम की भी अवधि तय है। मसलन केले का पहली जनवरी से 30 सितंबर, मिर्च पहली अगस्त- 31 अक्टूबर, टमाटर पहली दिसंबर-31 मार्च और मटर के बीमा क्लेम के लिए 15 दिसंबर से 28 फरवरी तक की अवधि तय है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort