अपराधब्रेकिंग न्यूजराजनीति

भाजपा नेताओं की मौजूदगी में कप्तान ने फोन पर एसएचओ सुहवल को हड़काया

गाजीपुर। लगता है एसएचओ सुहवल बिंद कुमार के लिए सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। 24 घंटे के अंदर उन्हें अपने कप्तान की दो बार झाड़ सुननी पड़ी है। कारण यही गंगा पार हाइवे पर ट्रकों के जाम और गंगा पुल पर ओवरलोडिंग।

ट्रकों के जाम पर बुधवार की शाम क्राइम मीटिंग में पुलिस कप्तान ने उनको खूब खरी खोटी सुनाई थी और उसके बाद गुरुवार की शाम गंगा पुल पर ओवरलोडिंग को लेकर फोन से उन पर एकदम पिल पड़े। मौका था इस आशय की शिकायत लेकर मिलने पहुंचे भाजपा नेताओं की मौजूदगी का। उन नेताओं की अगुवाई कर रहे थे भाजयुमो के पूर्व प्रदेश मंत्री योगेश सिंह।

यह भी पढ़ें–तस्करों ने झोंका फायर!

योगेश सिंह ने बताया कि उन लोगों ने पुलिस कप्तान डॉ.ओम प्रकाश सिंह को बकायदा शिकायत पत्र सौंप कर बताया कि सुहवल पुलिस की मिलीभगत से तय भार से कहीं बहुत ज्यादा भार में बालू लादकर वाहन धड़ल्ले से चल रहे हैं। इस दशा में पुल के फिर से क्षतिग्रस्त होने का खतरा बन गया है। तब यह भी कि उसका खामियाजा आमजन दोबारा भुगतेंगे। ओवरलोड वाहनों के चलते पुल कुछ साल के भीतर कई बार क्षतिग्रस्त हो चुका है और हर बार मरम्मत के लिए कई माह तक उस पर वाहनों का आवागमन बंद रखा गया। करीब ढाई माह बंद रहने के बाद अभी दो अक्टूबर को पुल फिर से चालू हुआ है और उसके साथ ही ओवरलोडेड वाहनों का भी आवागमन शुरू हो गया है। यह सब पहले की तरह सुहवल पुलिस के संरक्षण में हो रहा है। ओवरलोडेड वाहन चालकों से पुलिस कर्मी वसूली करते हैं। इसके लिए पुलिस कर्मी खुद सामने नहीं आते। बल्कि वह अपने दलाल तैनात कर दिए हैं।    

बकौल योगेश सिंह, पुलिस कप्तान ने उन लोगों की शिकायत को गंभीरता से लिया और खुद एसएचओ सुहवल को फोन लगाकर हड़काए। साफ चेताए कि पुल पर ओवरलोड वाहनों के परिचालन पर तत्काल प्रभाव से अंकुश नहीं लगा तो वह उनको हरगिज नहीं बख्शेंगे।

पुलिस कप्तान से मुलाकात में योगेश सिंह के साथ अक्षय कुमार राय, राजेश राय, गिरीश राय आदि भी थे।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort