अपराधब्रेकिंग न्यूज

भाजपा के दलित नेता संग पुलिस चौकी इंचार्ज ने किया दुर्व्यवहार

बहरियाबाद (गाजीपुर)। एक और भाजपा नेता संग पुलिसिया दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है। मामला हुरमुजपुर पुलिस चौकी का है।

पीड़ित दलित भाजपा नेता राजेश सोनकर ने इस मामले में एसओ बहरियाबाद को तहरीर दी है। उनका आरोप है कि चौकी इंचार्ज कुलदीप शर्मा ने उन्हें जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए चौकी से भगा दिया। वाकया शनिवार का है। राजेश के छोटे भाई बृजेश सोनकर शुक्रवार की शाम अपनी बीमार पत्नी का इलाज करा कर घर दुल्लहपुर लौट रहे थे। इसी बीच चौकी इंचार्ज ने जांच के लिए उनकी बाइक रोकवाई। बृजेश ने बाइक के सारे जरुरी कागजात उनके सामने पेश किया। बावजूद चौकी इंचार्ज बृजेश को जाति सूचक शब्दों में अपमानित करने लगे। उनके इस अप्रत्याशित व्यवहार से बृजेश वहां से निकलने में ही अपनी भलाई समझे। लेकिन घर पहुंचे तो उनके मोबाइल फोन पर पांच हजार रुपये के चालान का मैसेज आ गया।

यह भी पढ़ें—आरोप रिश्वत का, सजा-ए-तबादला

राजेश सोनकर ने बताया कि अपने भाई के साथ दुर्व्यवहार के मामले में शिकायत लेकर वह सुबह चौकी पर गए थे। कुछ देर बाद चौकी इंचार्ज आए और उनसे भी दुर्व्यवहार पर उतारु हो गए। यहां तक कि उनको चौकी से भगा कर ही दम लिए। राजेश के साथ उनके मित्र सूरज सोनकर भी थे।

इस संबंध में चौकी इंचार्ज कुलदिप शर्मा का कहना है कि राजेश सोनकर नामौजूदगी में उनकी कुर्सी पर बैठ गए थे। टोकने पर वह उनसे उलझ गए।

घटना के बाद तहरीर देने बहरियाबाद थाने पर पहुंचे राजेश सोनकर के साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता अशोक पांडेय, अजय सहाय, आलोक सिंह, अनुसूचित मोर्चा के जिलाध्यक्ष श्यामनारायण, शिवपूजन चौहान, रामप्रकाश सेठ, सुरेश जायसवाल आदि थे। तहरीर के संबंध में  एसओ बहरियाबाद रामनेवास ने कहा कि इस मामले की जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी।

मालूम हो कि कुछ ही दिन पहले बिरनो थाने में तत्कालीन एसओ पन्ने लाल ने भाजपा के पदाधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार किया था। तब भाजपा के पदाधिकारी पुलिस कप्तान के पास पहुंचे थे। उसके बाद पन्ने लाल को बिरनो से हटा कर खानपुर का एसओ बनाया गया था। अब पार्टी के वरिष्ठ दलित नेता राजेश सोनकर के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है। राजेश सोनकर पूर्व में भाजपा के जिला मंत्री रहें हैं।               

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort