अपराधब्रेकिंग न्यूजराजनीति

भाजपा: ‘आयातित’ कार्यकर्ताओं में ढिशूम-ढिशूम, बीच बचाव में पड़े कई नेताओं को भी घूंसे

गाजीपुर। स्वयं को अनुशासित, मर्यादित होने का दावा करने वाली भाजपा में कुछ ऐसे भी हैं जो सत्ता के आकर्षण में गैर दलों से आए हैं और उन्हें भाजपा की रीति-नीति की न तो परवाह है और न बड़े नेताओं के लिए उनके दिल में कोई सम्मान ही है। ऐसे ही दो कार्यकर्ता सरेआम आपस में भिड़ कर पार्टी की खूब भद पिटवाए।

यह भी पढ़ें—ग्राम प्रधान: बढ़ेगा कार्यकाल!

वाकया गुरुवार की सुबह का है। मौका था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर पार्टी के चल रहे सेवा सप्ताह के क्रम में सफाई अभियान का। सदर विधायक डॉ. संगीता बलवंत को अपनी टीम के साथ शहर के चितनाथ और गोला घाट इलाके में सफाई की जिम्मेदारी दी गई थी। उनके साथ भाजपा नगर उपाध्यक्ष श्याम चौधरी तथा भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष चंदन बिंद भी मौके पर पहुंचे थे। उसी बीच किसी मामले में रुपये के लेनदेन के विवाद में वह दोनों आपस में भिड़ गए। पहले कहासुनी और फिर ढिशूम-ढिशूम शुरू हो गया। वहां मौजूद बड़े नेताओं ने बीच बचाव की कोशिश की तो उन दोनों में चल रहे घूंसे उनपर भी गिर पड़े। किसी तरह उन्हें हटाया बढ़ाया गया लेकिन गोला घाट पहुंच कर दूसरी गोल चंदन बिंद पर एकदम से पिल पड़ी। आखिर में पिटे थुरे चंदन बिंद शहर कोतवाली पहुंच कर श्याम चौधरी के विरूद्ध तहरीर दी।

यह सारा वृतांत संज्ञान में आने के बाद जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह ने श्याम चौधरी और चंदन बिंद को तलब किया। वहां जिलाध्यक्ष के अलावा और भी बड़े नेता मौजूद थे। उन लोगों ने श्याम चौधरी तथा चंदन बिंद को पहले झिड़का फिर पार्टी के अनुशासन का पाठ पढ़ाया। साथ ही जिलाध्यक्ष ने चंदन बिंद को निर्देश दिया कि वह शहर कोतवाली में दी गई अपनी तहरीर वापस ले लें। बताते हैं कि पहले ही अपनी ‘धुनाई’ से विफरे चंदन एकदम से फट पड़े। बड़े नेताओं को जमकर कोसने लगे। फिर यह कहते हुए कार्यालय से निकल गए कि वह अपनी तहरीर हरगिज वापस नहीं लेंगे।

मालूम हो कि चंदन बिंद कभी बसपा में थे। स्वजातीय डॉ. संगीता बलवंत के सदर विधायक बनने के बाद वह भाजपा में आ गए। विधायक की कृपा से उनको भाजयुमो का जिला उपाध्यक्ष का पद भी मिल गया। इसी तरह श्याम चौधरी कभी सदर विधायक और प्रदेश सरकार में मंत्री रहे विजय मिश्र के कारखास थे लेकिन जब विजय मिश्र ‘पैदल’ हो गए तब उनके लिए श्याम चौधरी का प्रेम भी जाता रहा। जुगत लगा कर वह डॉ. संगीता बलवंत के करीब पहुंच गए। इतना कि वह उनके प्रतिनिधि तक बन गए। पार्टी के इस जगहंसाई वाले वाकये की चर्चा करते हुए ‘आजकल समाचार’ ने जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह से अनुशासनात्मक कार्रवाई के बाबत पूछा तो पहले वह मामले को ढंकना चाहे लेकिन दोबारा पूछने पर वह यह कह कर पल्ला झाड़ लिए कि यह नगर कमेटी का मामला है। उधर शहर कोतवाल दिलीप सिंह ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort