ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

भाजपाः नेताओं के लिए गले का फांस बना हमीद सेतु

गाजीपुर। भाजपा नेताओं के लिए गंगा का हमीद सेतु गले का फांस बन गया है। इस मामले में एक ओर अफसर उनकी एक नहीं सुन रहे हैं। दूसरी ओर कार्यकर्ता उन्हें खूब खरीखोटी सुना रहे हैं।

गंगा पार सती अनसूईया स्कूल मेदिनीपुर में सुहवल तथा सदर पूर्वी मंडल के दो दिवसीय प्रशिक्षण सत्र का सोमवार को अंतिम दिन था। सत्र शुरू होते ही कार्यकर्ता नेताओं पर एकदम से बरस पड़े। उनका कहना था कि हमीद सेतु पर मरम्मत के बाद रोक के बावजूद पुलिस की मिलीभगत से खुलेआम लोडेड वाहन चलते रहे। बार-बार शिकायत के बाद भी कुछ नहीं हुआ। नतीजा मरम्मत के 37 दिन बाद ही पुल फिर क्षतिग्रस्त हो गया। पुल के क्षतिग्रस्त होने का खामियाजा गंगा पार के छात्रों, महिलाओं, किसानों, मजदूरों, व्यापारियों को भुगतना पड़ रहा है जबकि आमजन उल्टे उन्हीं पर मिलीभगत का आरोप लगा रहे हैं। इसको लेकर पार्टी की छवि धूमिल हो रही है। इस दशा में प्रशिक्षण सत्र से पहले इस सिस्टम को सुधार किया जाए। ताकि आमजन में पार्टी को लेकर विश्वास बना रहे।

यह भी पढ़ें–छुक-छुक रेलः जरूरी सूचना

उधर प्रशिक्षण सत्र के पहले दिन  रविवार की शाम समापन के बाद वरिष्ठ नेता जब जिला मुख्यालय की ओर लौटने को हुए तब तक पुल पर अचानक दो पहिया वाहनों को छोड़ कर सभी वाहनों का परिचालन रोका जा चुका था। नेता फंस गए। पुल के रास्ते पर बैरियर लगा कर खड़े पुलिस कर्मियों से पहले अनुनय-विनय फिर दबाव बना कर अपनी गाड़ियां निकालना चाहे मगर पुलिस कर्मियों ने उन्हें अपने अंदाज में समझा दिया। तब नेताओं ने ऊपर के अधिकारियों से फोन पर बात की लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। हालांकि मौके पर मौजूद कार्यकर्ता अपने नेताओं के इस अपमान से क्षुब्ध होकर पुलिस कर्मियों को तल्ख स्वर में जवाब देना शुरू किया। साथ ही नेताओं को पुल से लौटने का रास्ता देने को कहे। उनका कहना था कि पुल पर अचानक वाहनों का परिचालन रोकना गलत है। यह काम पूर्व सूचना देकर होना चाहिए था। कार्यकर्ताओं ने मौके पर फंसे चार और तीन पहिया वाहनों में सवार महिला, बच्चों की वेवशी, लाचारी का भी हवाला दिया लेकिन पुलिस कर्मी रहम नहीं किए। आखिर में भाजपा नेताओं सहित वहां फंसे परिवारों को जमानियां-कटरिया पुल की राह पकड़नी पड़ी। भाजपा नेताओं में रामनरेश कुशवाहा, जितेंद्रनाथ पांडेय, सरोज कुशवाहा, श्यामराज तिवारी आदि थे।

मुख्यमंत्री को भेजी गई चिट्ठी

गाजीपुर। सती अनसुईया स्कूल मेदनीपुर में भाजपा के वर्ग प्रशिक्षण के अंतिम दिन आक्रोशित कार्यकर्ताओं को शांत कराने के लिए जिला महामंत्री प्रवीण सिंह ने बताया कि हमीद सेतु की दुर्दशा को लेकर जिला नेतृत्व अति गंभीर है और इस सिलसिले में प्रभारी मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल के माध्यम से मुख्यमंत्री को चिट्ठी भेजी गई है। चिट्ठी में पुल की बदहाली के कारणों की उच्चस्तरीय जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की गई है। प्रवीण सिंह ने अपने मोबाइल में सेव उस चिट्ठी की प्रति भी दिखाई। तब कार्यकर्ताओं ने कहा कि वह इस जानकारी से मीडिया के जरिये आमजन को भी अवगत कराया जाए। खैर इसी बीच सुखद खबर यह मिली है कि हमीद सेतु के क्षतिग्रस्त ज्वाइंट बैरिंग की मरम्मत का काम शुरू हो गया है। इसे पूरा होने में तीन-चार दिन लग सकता है।

 

 

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort