ब्रेकिंग न्यूजशिक्षा

बेसिक शिक्षा कार्यक्रम के क्रियान्वयन में गाजीपुर फिसड्डी, महानिदेशक ने गठित की जांच टीम

गाजीपुर। अनियमितता, दूर्व्यवस्था को लेकर बराबर सुर्खियों में रहनेवाला बेसिक शिक्षाधिकारी दफ्तर की एक और खामी सामने आई है। शासन की ओर से विभागीय कार्यक्रमों के क्रियान्वयन को लेकर हुई प्रदेश स्तरीय समीक्षा में कुल 13 जिले फिसड्डी पाए गए हैं। इनमे गाजीपुर भी शामिल है।

यह भी पढ़ें—भाजपा का झंडा और ट्रैक्टर चोर                                     

इस सिलसिले में विभाग के महानिदेशक विजय किरन आनंद ने गाजीपुर सहित संबंधित जिलों में जाकर समीक्षा और निरीक्षण के लिए गुरुवार को टीमें गठित की। गाजीपुर के लिए गठित टीम में निदेशालय के यूनिट प्रभारी (बालिका शिक्षा) कमलाकर पांडेय, जीवेंद्र सिंह ऐरी यूनिट प्रभारी (अधिष्ठान) तथा नीलम सिंह सलाहकार सामुदायिक सहभागिता शामिल हैं। यह टीम गाजीपुर में दो दिन प्रवास करेगी। प्रवास काल में टीम डीएम, सीडीओ से मिलेगी और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के संबंध में चर्चा कर उनसे मार्ग निर्देशन प्राप्त करेंगी। बीएसए की साप्ताहिक समीक्षा बैठकों की नियमितता व गुणवत्ता की समीक्षा करेगी। जिला स्तर पर बने कंट्रोल रूम के कार्यों का जायजा लेगी। ऑप्रेशन कायाकल्प में अंतर विभागीय समन्वय को परखेगी। इसके अलावा टीम किन्ही दो स्कूलों में औचक पहुंच कर मध्याह्न भोजन व्यवस्था को देखेगी और कन्वर्जन मनी, ड्रेस तथा पाठ्य पुस्तकों के वितरण, ई-पाठशाला का अवलोकन करेगी। फिर टीम किसी ब्लाक के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय का भी औचक निरीक्षण करेग।

टीम 30 सितंबर से पहले अपनी जांच रिपोर्ट महानिदेशक को सौंप देगी। जांच टीम के बाबत बीएसए श्रवण कुमार से फोन पर चर्चा की गई। उन्होंने अनभिज्ञा जताई। उसके बाद ‘आजकल समाचार’ सीधे फोन के जरिये जांच टीम के अगुआ कमलाकर पांडेय के पास पहुंचा। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही तिथि निश्चित होते ही उनकी टीम गाजीपुर पहुंचेगी।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort