अपराधब्रेकिंग न्यूजराजनीति

बलिया सांसद ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी भेज उच्यस्तरीय जांच की मांग की, ईओ की मौत का मामला

गाजीपुर। मनियर (बलिया) नगर पंचायत की ईओ की मौत के मामले में विरोधी दलों की ओर से भाजपा सरकार पर चौतरफा हमले के बीच बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने उच्चस्तरीय जांच की मांग उठा कर विरोधियों को चुप कराने की कोशिश की है।

शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को उन्होंने इस आशय की चिट्ठी भेजी है। चिट्ठी में अपने निर्वाचन क्षेत्र का मामला बताते हुए कहा है कि ईओ मणिमंजरी राय तेज तर्रार अधिकारी थीं। उनकी मौत को आत्महत्या का मा्मला बताया जा रहा है। उनके परिवारीजनों ने उनसे बातचीत में आत्महत्या को बड़ी साजिश बताया है। लिहाजा इस पुरे प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच जरूरी है। बलिया सांसद ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि इसके लिए वह एक उच्चस्तरीय जांच कमेटी गठित की जाए और घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़े—मां से झगड़ने के बाद…

मालूम हो कि मणिमंजरी राय बीते सोमवार की रात बलिया शहर स्थित आवास-विकास कॉलोनी के अपने आवास में मृत मिली थीं। उनका शव कमरे में छत के पंखे से लटक रहा था। वह मूलत: गाजीपुर के थाना भांवरकोल अंतर्गत कनुआन गांव की रहने वाली थीं। बलिया पुलिस के अनुसार मौके पर सुसाइड नोट भी मिला था। मणिमंजरी के बड़े भाई विजयकांत ने बलिया शहर कोतवाली में एफआईआर दर्ज करवाया। उन्होंने आरोप लगाया कि मणिमंजरी की मौत के लिए मनीयर नगर पंचायत के चेयरमैन भीम गुप्त सहित पूर्व ईओ टैक्स कलर्क वगैरह जिम्मेदार हैं। यह सभी मणिमंजरी पर अनियमित कार्यों और भुगतान के लिए बेजा दबाव डाल रहे थे। इस घटना पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी भी ट्विट कर योगी सरकार को कठघरे में खड़ाकर चुकी हैं। उधर सपा नेता भी इसको लेकर मुखर हैं।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort