ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

बदजुबान गहमर थाना प्रभारी को विधायक के संरक्षण से भाजपाई नाखुश

गाजीपुर। खुद को कॉडर पार्टी कहने वाली भाजपा के राज में नीचे के कॉडर की कोई पूछ नहीं है। इसका भरपूर मजा ले रहे हैं सरकारी मुलाजिम। कम से कम गाजीपुर में तो यही स्थिति है। एक मामला गहमर का है। वहां के थाना प्रभारी से पार्टी के आम कार्यकर्ता त्रस्त हैं लेकिन इलाकाई विधायक सुनिता सिंह के वरदहस्त से थाना प्रभारी मस्त हैं।

…पर हमला क्यों और हमलावर कौन

गहमर थाना प्रभारी विमल कुमार मिश्र का अपराधियों पर कोई हनक नहीं है। अलबत्ता, उनकी बदमिजाजी से आमजन जरूर सहमा रहता है। अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। श्री मिश्र के कुछ माह के ही कार्यकाल में एक पूर्व सैनिक और सीमा सुरक्षा बल के जवान की हत्या हो चुकी है। गहमर  की प्रधान पति पर हमला हो चुका है। बारा में दुष्कर्म की घटना सहित कई जगह चोरी की घटनाएं भी हुईं हैं। बारा और देवल पुल के रास्ते लाल बालू के ओवर लोड ट्रकें धड़ल्ले से आ रहें हैं। इन सब पर अंकुश लगाने के वजाए थाना प्रभारी आमजन को नाहक अपमानित करने में ही लगे रहते है।

पीड़ित भाजपा कार्यकर्ताओं से गुहार लगाते हैं लेकिन लाचार कार्यकर्ता चाह कर भी उनकी कोई मदद नहीं कर पाते हैं। क्षेत्रीय विधायक भी भाजपा की ही हैं मगर कार्यकर्ताओं व आमजन की भावनाओं की उन्हें सुधि नहीं रहती। बल्कि उनका सहयोग थाना प्रभारी के लिए ही होता है। विधायक के एकतरफा रवैये से निराश कार्यकर्ता पार्टी जिला पंचायत सदस्य मनीष सिंह बिट्टू पर कुछ करने का बारबार दबाव डालते हैं। बिट्टू कार्यकर्ताओं की इस भावना से पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों से लगायत गाजीपुर के प्रभारी मंत्री तक लिखित और मौखिक रूप में मय साक्ष्य अवगत करा चुके हैं लेकिन विधायक के प्रभाव के कारण बिट्टू की बात भी बेमानी हो चुकी है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि विधायक का पूरा संरक्षण पाकर थाना प्रभारी अब उनको भी अपमानित करने पर आमादा हो गए है। विधायक भी थाना प्रभारी का विरोध कर रहे बिट्टू समेत सभी कार्यकर्ताओं से रंजिश रखने लगी हैं।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort