ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

प्रशासन ने रोकी सपा की किसान यात्रा, जिलाध्यक्ष सहित कई दिग्गज हाउस अरेस्ट

गाजीपुर। किसान बिल के विरोध में भारत बंद के एक दिन पूर्व सोमवार को समाजवादी पार्टी की किसान यात्रा को प्रशासन ने रोक दिया। इसके लिए जिलाध्यक्ष सहित कुछ दिग्गज नेता हाउस अरेस्ट कर लिए गए। कई यात्रा निकालते वक्त उठा लिए गए।

शीर्ष नेतृत्व के आह्वान पर विधानसभा क्षेत्रवार यह किसान यात्रा सुबह निकलनी थी। उसके पूर्व ही पुलिस जिलाध्यक्ष रामधारी यादव के बहादीपुर स्थित आवास पर पहुंच गई और उन्हें घर से बाहर निकलने नहीं दिया गया। इसी तरह पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह को भी पुलिस ने शास्त्री नगर आवास में रोक दिया। जंगीपुर विधायक डॉ.वीरेंद्र यादव को भी उनके गांव जैतपुरा में हाउस अरेस्ट कर दिया गया। उधर पूर्व मंत्री ओम प्रकाश सिंह के घर सेवराई सुबह गहमर एसएचओ दिलीप सिंह सदलबल पहुंच गए और ओमप्रकाश सिंह की नामौजूदगी में उनके प्रतिनिधि मन्नू सिंह तथा बेटे रितेश सिंह को हाउस अरेस्ट कर लिए।

यह भी पढ़ें–गुंडई! ग्राम प्रधान के घर पर बोले धावा

सदर विधानसभा क्षेत्र के पार्टीजन पुलिस को छकाते हुए नारीपचदेवरा पहुंच गए। किसान यात्रा निकाल कर वह मटखनना गांव पहुंचे ही थे कि करंडा पुलिस पहुंच गई और सबको हिरासत में लेकर थाना मुख्यालय ले गई। उन नेताओं में पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, मीडिया प्रभारी अरुण श्रीवास्तव, डॉ.समीर सिंह, विधानसभा इकाई अध्यक्ष तहसीन अहमद, उपाध्यक्ष कमलेश यादव, जिला कोषाध्यक्ष राम बचन यादव, जिला सचिव आमिर अली, परशुराम बिंद, प्रभुनाथ राम, युवजन सभा के जिलाध्यक्ष सदानंद कनौजिया, राम विजय यादव, बलिराम यादव, देवकली ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि सच्चे लाल यादव, सदर ब्लाक प्रमुख आलोक कुमार, अवधेश यादव, धनंजय विश्वकर्मा, कमलेश बिंद, राज नारायण सिंह यादव, रामायण यादव, उदय प्रताप सिंह यादव, रामाश्रय यादव, नन्दलाल यादव, राजेंद्र कुमार यादव, संतोष कुमार यादव, तनवीर अहमद आदि थे।

उसी बीच जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने फोन पर दावा किया कि हर विधानसभा क्षेत्र में किसान यात्रा निकली। बीच राह रोकने पर यात्रा में शामिल कार्यकर्ता वहीं धरने पर बैठ गए लेकिन पुलिस उन्हें हिरासत में लेकर उठा ली। पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह ने फोन पर कहा कि सरकार की यह कार्रवाई सरासर अलोकतांत्रिक कृत्य है। किसान यात्रा से कानून-व्यवस्था भंग नहीं होनी थी। बावजूद लोकतांत्रिक अधिकार का हनन कर इसे रोका गया है लेकिन भाजपा सरकार मुगालते में है कि वह अपनी किसान बिल के विरोध में उठने वाली समाजवादियों की आवाज को वह दबा देगी। इसका खामियाजा उसे भुगतना ही पड़ेगा। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित भारत बंद को भी सपा कार्यकर्ता पूर्ण सफल बनाने में कोई कोरकसर नहीं छोड़ेंगे।

उधर विधायक डॉ.वीरेंद्र यादव ने खुद के हाउस अरेस्ट की फोटो ट्वीटर पर शेयर करते हुए कहा है कि तानाशाह सरकार समाजवादियों को गिरफ्तार कर उन्हें किसानों का साथ देने से रोक नहीं पाएगी। वरिष्ठ नेता मुन्नन यादव ने भी कहा कि भाजपा सरकार की इस नादिरशाही का जवाब समाजवादी जनता के बल पर देंगे।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort