ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

पुलिस से नोकझोंक कर आखिर डीएम दफ्तर तक पहुंच ही गए युवा सपाई

गाजीपुर। सपा के युवा नेता शुक्रवार को पूरे तेवर में थे। जनहित के पांच प्रमुख मुद्दों को लेकर वह सुबह पार्टी कार्यालय पर एकत्र हुए और डीएम को ज्ञापन देने के लिए कलेक्ट्रेट की ओर बढ़े। मौके पर पहले से अलर्ट पुलिस बल ने कोविड-19 के प्रोटोकॉल का हवाला देते हुए उनकी भीड़ को रोकने की पूरी कोशिश की। इसको लेकर दोनो पक्षों में नोकझोंक भी हुई। बावजूद भीड़ की अगुवाई कर रहे डॉ. समीर सिंह और जिला पंचायत सदस्य सत्येंद्र यादव सत्या आगे बढ़े। पीछे से करीब दस कार्यकर्ता भी कलेक्ट्रेट के अंदर जा पहुंचे। डीएम ओमप्रकाश आर्य की वीडियो कॉनफ्रेंसिंग में व्यस्तता के कारण ज्ञापन लेने सीआरओ सुशील लाल श्रीवास्तव सामने आए।

यह भी पढ़ें—कप्तान के ‘इंटरव्यू’ का नतीजा! 

सीआरओ को देख युवा सपाई फिर भड़क उठे। उनका कहना था कि वह डीएम को ही ज्ञापन देंगे। किसी तरह सीआरओ ने उन्हें शांत कराया। तब ज्ञापन में दर्ज जनसमस्याओं का एक हफ्ते के अंदर निवारण कराने का सीआरओ से  आश्वासन लेकर ही उन्हें ज्ञापन सौंपे।

ज्ञापन में यह थी मांगें सहकारी समितियों पर यूरिया खाद की पर्याप्त उपलब्धता। शहर के निकटवर्ती गांव जंजीरपुर व अहिरपुरवा के पास बने शहर के कूड़े-कचरे के डम्पिंग प्वाइंट हटाया जाए। बिजली विभाग के वर्कशॉप में ट्रांसफार्मरों की मरम्मत में अनियमितता बंद हो और इसकी जांच के लिए कमेटी गठित कर दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई हो। लॉकडाउन में भी स्कूलों में फीस वसूली बंद हो। फतेउल्लाहपुर में सुखबीर एग्रो की राख से प्रदूषण से इलाकाई लोगो को मुक्ति दिलाई जाए।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort