ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

पुत्र नीरज साथ हैं फिर भी भाजपाइयों के दिल में नहीं समाए चंद्रशेखर

गाजीपुर। पहले की बात होती तो नहीं खटकती पर आज नीरज शेखर साथ हैं फिर भी उनके पिता पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर भाजपाइयों के दिल में उतर नहीं पाए हैं।

इसका एहसास बुधवार को चंद्रशेखर की पुण्यतिथि पर भी हुआ। न दिल्ली में उनके समाधि स्थल पर भाजपा सरकार का कोई मंत्री अथवा नेता ही जाने की जरूरत समझा। यहां तक की भाजपा के सोशल मीडिया एकाउंट पर भी चंद्रशेखर के लिए दो शब्द भी नहीं दिखे। हां नीरज शेखर इस बार भी पिता के शमाधि स्थल पर पहुंच कर श्रद्धासुमन जरूर चढ़ाए।

उधर समाजवादी नीरज शेखर के पलटी मार भाजपा में जाने के  अपने क्षोभ से परे जाकर चंद्रशेखर को श्रद्धा से याद करना नहीं भूले। पार्टी के जिलों से लगायत प्रदेश मुख्यालय तक श्रद्धांजलि सभाएं  हुईं। पार्टी की वेबसाइट और सोशल मीडिया के एकाउंट के जरिये भी चंद्रशेखर को याद किया गया। नीरज शेखर जब समाजवादी पार्टी में रहे तब पार्टी के नेतृत्व समूह के नेता तक चंद्रशेखर की समाधि स्थल पर जाते रहे।

उधर समाजवादी पार्टी से भाजपा में आए एमएलसी यशवंत सिंह भी लखनऊ में चंद्रशेखर के प्रति श्रद्धा जताए। चंद्रशेखर के प्रति भाजपा के इस रवैये पर समाजवादी पार्टी के नेता डॉ. समीर सिंह ने तल्ख प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि भाजपा सबका साथ-सबका विकास का नारा भले दे लेकिन वह अपनी प्रतिक्रियावादी सोच से ऊपर नहीं उठ पाई है। उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर एक राजनेता मात्र नहीं थे। वह देश की अस्मिता थे। संस्कृति के प्रतीक थे। चंद्रशेखर के लिए ऐसी उपेक्षा को लेकर भाजपा के प्रति आमजन में संदेश अच्छा नहीं गया है।  

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort