ब्रेकिंग न्यूजशिक्षा

पीसीएस 2018: महिला शिक्षक का धमाल, किसान का बेटा और इंजीनियर की बेटी ने भी मारी बाजी

गाजीपुर। पीसीएस-2018 की मुख्य परीक्षा में गाजीपुर के होनहारों ने भी धमाल मचाया है। इनमें महिला शिक्षक दीपशिखा सिंह 56वें रैंक पर हैं। इनकी नियुक्ति सीधे डिप्टी कलेक्टर के पद पर हुई है।

यह भी पढ़ें—…तब डीएम को कोरोना का दंश!

दीपशिखा सिंह पीजी कॉलेज के भूगोल विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। वह मूलत: मऊ जिले के रतनपुरा क्षेत्र स्थित भुड़सुड़ी गांव की रहने वाली हैं। इनके पिता डॉ. ओमप्रकाश सिंह शिवहर्ष किसान महाविद्यालय, बस्ती में अर्थशास्त्र विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर हैं जबकि मां शकुंतला सिंह गृहणी हैं। बड़ी बहन डॉ. रूपशिखा सिंह बीएचयू में प्रोफेसर हैं और भाई लव कुमार सिंह सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। इनकी स्कूली पढ़ाई बस्ती में हुई और बीए, एमए के साथ नेट जेआरएफ बीएचयू से किया।  

खानपुर क्षेत्र के मौधा गांव के रहने वाले रविप्रकाश सिंह सेल टैक्स ऑफिसर के पद पर चयनित हुए हैं। इनके पिता शशिधर सिंह सामान्य किसान हैं और मां रीना सिंह गृहणी हैं। प्रारंभिक शिक्षा इन्होंने अपने गांव में ली। इसके बाद वाराणसी में इंटर के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री लेकर पीसीएस परीक्षा में शामिल हुए।

इधर पैक्सफेड गाजीपुर में जूनियर इंजीनियर इंद्रासन सिंह की होनहार पुत्री प्रतिष्ठा सिंह का चयन कॉमर्सियल टैक्स इंस्पेक्टर के पद पर हुआ है। हाई स्कूल गोरखपुर और इंटर की पढ़ाई वाराणसी से करने के बाद लखनऊ के बाबू बनारसी दास इंजीनियरिंग कॉलेज से इन्होंने कंप्यूटर साइंस से बीटेक की डिग्री ली। यह मूलत: मऊ जिले के सरोधा गांव की रहने वाली हैं।    

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort