शासन-प्रशासन

नोनहरा थानाध्यक्ष का निधन, अचानक बिगड़ी थी तबियत

गाजीपुर। जिले के एक और थानाध्यक्ष का निधन हो गया। यह दूसरा निधन नोनहरा थानाध्यक्ष बृजेश शुक्ल (45) का हुआ है। बुधवार को उन्हें बुखार आया। वह सामान्य दवा लिए लेकिन कोई राहत नहीं मिली। बल्कि गुरुवार को पेट में अचानक असहनीय दर्द शुरू हो गया। उनको जिला अस्पताल में लाया गया लेकिन स्थिति बिगड़ते देख चिकित्सकों ने उनको वाराणसी रेफर कर दिया। जहां शुक्रवार की सुबह वह दम तोड़ दिए।

यह भी पढ़ें–मास्टर प्लान का कारनामा यह भी

बृजेश शुक्ल मूलत: सुल्तानपुर जिले के थाना कूड़ेभार स्थित कूड़ेतिरया शुक्ला गांव के रहने वाले थे। उनका पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए वाराणसी से ही पैतृक गांव के लिए भेज दिया गया। बृजेश शुक्ल के पिता शंभूनाथ शुक्ल भी पुलिस सेवा में थे। उनका भी सेवा काल में ही निधन हो गया था। मृतक आश्रित कोटे में बृजेश शुक्ल साल 2009 में महकमे में उपनिरीक्षक के पद पर नियुक्त हुए थे। गाजीपुर में आने के बाद उन्हें पहली बार बीते 23  जून को थाना इंचार्ज के रूप में नोनहरा की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। कुछ ही माह बाद निरीक्षक के पद पर उनका प्रमोशन प्रस्तावित था।

मालूम हो कि करीब ढाई माह के भीतर गाजीपुर में थानाध्यक्ष के रूप में महकमे की यह दूसरी क्षति है। बीते 20 अप्रैल को दूल्लहपुर के तत्कालिन थाना इंचार्ज विनय सिंह का आकस्मिक निधन हो गया था।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort