ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

निर्माण मजदूरों में पंजीकरण को लेकर उत्सुकता, श्रम विभाग के कैंप में लगी लंबी कतार

गाजीपुर। सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए निर्माण मजदूरों में श्रम विभाग में अपने पंजीकरण को लेकर काफी उत्सुकता है। जखनिया ब्लाक के जलालाबाद में शुक्रवार को लगे कैंप में इसका अंदाजा मिला। कैंप में महिला मजदूरों की संख्या भी खासी थी। शाम दो बजे समाचार लिखे जाने तक करीब 125 निर्माण मजदूरों का पंजीकरण हो चुका था और पंजीकरण के लिए लंबी कतार लगी थी।

यह भी पढ़ें—विधायक के ‘दुलरुवों’ में ढिशूम-ढिशूम

कैंप का आयोजन श्रम विभाग ने संस्था कुसुम फॉउंडेशन के सहयोग से किया है। इस मौके पर श्रम अधिकारी लईक अहमद ने बताया कि निर्माण मजदूर कैंप के बाद कभी अपना ऑनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं। इसके लिए उन्हें विभाग की वेबसाइट www.upbocw.in पर जाना होगा। इसके लिए वह स्वंय अथवा सहज जनसेवा केंद्रों की भी सेवा ले सकते हैं। चाहें तो वह जिला मुख्यालय पर विभाग के कार्यालय में भी आकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। श्रम अधिकारी ने बताया कि कैंप में प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत 18 से 40 वर्ष की उम्र के मजदूरों का पेंशन खाता भी खोलवाया गया। यह खाता अंशदायी है। उसमें मजदूर के अंशदान के समतुल्य धनराशि केंद्र सरकार भी जमा करेगी। खाता धारक मजदूर को 60 वर्ष की उम्र पूर्ण करने के बाद आजीवन प्रतिमाह तीन हजार रुपये पेंशन का लाभ मिलेगा।  

पंजीकरण के लिए यह है जरूरी

इच्छुक निर्माण मजदूर की उम्र 18 से 60 साल के बीच होनी चाहिए। पंजीकरण में उन्हें अपना आधार कार्ड, पासबुक, फोटो के अलावा 20 रुपये पंजीकरण शुल्क तथा 20 रुपये अंशदान भी जमा करने होंगे। अंशदान की यह राशि जमा करने के साथ ही हर साल पंजीकरण का नवीनीकरण भी कराना होगा। मजदूर चाहेंगे तो वह एक ही बार में तीन साल की अपने अंशदान की राशि जमा कर सकते हैं।

इन योजनाओं का मिलेगा लाभ

प्रदेश भवन एवं अन्य सम्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड से पंजीकृत इन निर्माण मजदूरों तथा उनके आश्रितों को शिशु-मातृत्व एवं बालिका आशीर्वाद योजना, पुत्री विवाह अनुदान योजना, मेधावी छात्र पुरस्कार योजना, संत रविदास शिक्षा सहायता योजना, निर्माण कामगार मृत्यु-विकलांगता एवं अक्षमता पेंशन योजना, अंत्येष्टि सहायता योजना और गंभीर बीमारी सहायता योजना का लाभ मिलेगा।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort