ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

जुगाड़ कि पहुंच, जाना था आजमगढ़ पर प्रभार मिला सुहवल का

गाजीपुर। इसको जैक कहा जाए या खालिस जुगाड़ कि जिस पुलिस इंस्पेकेटर को आजमगढ़ परिक्षेत्र जाकर आमद करानी थी वह गाजीपुर के क्रिमी थाना का इंचार्ज बन बैठा।

बात शुक्रवार की रात पुलिस कप्तान डॉ. ओमप्रकाश सिंह की ओर से जारी थानेदारों की सूची में शामिल इंस्पेक्टर सुदेश कुमार सिंह की हो रही है। बीते आठ दिसंबर को एडीजी वाराणसी ऑफिस से इंस्पेक्टरों की गैर परिक्षेत्र में तबादले की जारी सूची के मुताबिक इंस्पेक्टर सुदेश कुमार सिंह को आजमगढ़ जाना था लेकिन वह गाजीपुर में ही सुहवल थाने के इंचार्ज बना दिए गए। अभी तक वह डीसीआरबी के इंचार्ज थे। इनकी यह नई तैनाती बिंद कुमार की जगह हुई है जिन्हे एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) का इंचार्ज बनाया गया है। हालांकि बिंद कुमार से सुहवल थाने की कुर्सी छिना जाना पहले से ही तय माना जा रहा था। गंगा पुल पर ओवर लोड वाहनों के परिचालन को लेकर पुलिस तथा प्रशासन की खूब किरकिरी हो रही थी। मामला ऊपर तक पहुंच गया था। एक दिन तो खुद डीएम एमपी सिंह ओवर लोड ट्रकों की आवाजाही और उसके एवज में हो रही वसूली से साक्षात हुए थे।

पुलिस कप्तान की तबादला सूची में सुहवल के अलावा कासिमाबाद के भाजपाइयों की आंखों की किरकिरी बने एसएचओ कासिमाबाद बलवान सिंह का भी नाम शामिल है। उन्हें एसएचओ मरदह बनाया गया है जबकि कासिमाबाद का प्रभार एसओजी प्रभारी रहे श्यामजी यादव को मिला है। वहीं आपराधिक घटनाओं पर प्रभावी ढंग से काबू पाने में नाकाम मरदह इंचार्ज कमलेश पाल को लगभग महत्वहीन थानों में शामिल रेवतीपुर का प्रभार सौंपा गया है। वैसे तो माना यही जा रहा था कि मरदह थाने से हटाए जाने के बाद कमलेश पाल को थानेदारी से महरूम रहना पड़ सकता है लेकिन उनको महकमे में अपने ‘रहनुमा’ के बूते  रेवतीपुर थाने की ही सही कुर्सी मयस्सर हुई।

उधर सादात एसओ के पद से सूर्यप्रकाश मिश्र को हटा कर विवेचना सेल में लाए जाने के पीछे की कहानी भी ढूंढी जा रही है। एक नैरेटिव यह भी है कि एमएलसी विशाल सिंह चंचल के मुखर विरोधी वाराणसी के बहुचर्चित समाजसेवी राकेश न्यायिक के विरुद्ध दर्ज मामले में प्रभावी कार्रवाई में वह फेल रहे हैं। सादात थाने के नए इंचार्ज दिव्य प्रकाश सिंह होंगे। अब तक वह रेवतीपुर के इंचार्ज थे।

इसी क्रम में और दो इंस्पेक्टर इधर से उधर हुए हैं। एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) के इंचार्ज विवेक श्रीवास्तव अब डीसीआरबी का प्रभार संभालेंगे जबकि हालिया इंस्पेक्टर बने विनित राय सर्विलांस सेल से प्रभारी स्वाट टीम बनाए गए हैं। इनकी इस तैनाती से पहले महकमे में यही माना जा रहा था कि इन्हें सीधे कोई अहम थाना मिलेगा।

यह भी पढ़ें—भाजपा: भौकाल की ऐसी-तैसी

 

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort