ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

ग्राम सेक्रेटरी की तैनाती में अब पंचायत नहीं आबादी होगा आधार!

गाजीपुर। ग्राम सेक्रेटरियों के लिए ग्राम पंचायतों के मनमाने आवंटन की गुंजाइश अब खत्म हो सकती है। आवंटन का आधार ग्राम पंचायतों की संख्या की जगह आबादी रखने का प्रस्ताव है।

ग्राम पंचायतों में सेक्रेटरी की तैनाती ग्राम पंचायत अधिकारी और ग्राम विकास अधिकारी कॉडर से होती है। गाजीपुर में कुल 1237 ग्राम पंचायतें हैं। इसके सापेक्ष मात्र 148 ग्राम पंचायत अधिकारी हैं जबकि 122 ग्राम विकास अधिकारी हैं। इस दशा में इन्हें एक से अधिक ग्राम पंचायतों के सेक्रेटरी की जिम्मेदारी दी गई है। इनके लिए कहने को तो न्याय पंचायत स्तर पर ग्राम पंचायतों का आवंटन किया गया है लेकिन कुछ ऐसे हैं जिन्हे आबादी के हिसाब से बड़ी-बड़ी ग्राम पंचायतें सौप दी गईं हैं और कई ऐसे भी सेक्रेटरी हैं जो एक हजार आबादी वाली ग्राम पंचायतें संभाल रहे हैं।

यह भी पढ़ें—यह कैसा फैसला, स्टेशन से हॉल्ट

शासन में इस आशय के विचाराधीन प्रस्ताव के मुताबिक दस हजार आबादी के हिसाब से कलस्टर बना कर प्रति कलस्टर एक सेक्रेटरी की तैनाती होगी। उस हिसाब से दस हजार आबादी वाली ग्राम पंचायत के सेक्रेटरी को दूसरी ग्राम पंचायत नहीं दी जाएगी।

इस संबंध में डीपीआरओ अनिल सिंह ने बताया कि इस कवायद में जिले की जनसंख्यावार ग्राम पंचायतों की संख्या और उपलब्ध ग्राम पंचायत अधिकारी तथा ग्राम विकास अधिकारी की संख्या वगैरह का विवरण पंचायत राज निदेशालय को भेज दिया गया है।      

ग्राम पंचायत अधिकारी संघ के जिलाध्यक्ष सूर्यभान राय ने कहा कि ग्राम पंचायत अधिकारी शासन के अधीन हैं। शासन की व्यवस्था के तहत कार्य करना इनका कर्तव्य है। लिहाजा ऐसे किसी भी प्रस्ताव पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort