ब्रेकिंग न्यूजराजनीति

ग्राम प्रधानों को कुछ और माह मिल जाएगा काम करने का मौका!

गाजीपुर। त्रि-स्तरीय पंचायत चुनावों को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग जो कुछ कर रहा है और अन्य हालात से नहीं लगता कि अगले साल अप्रैल से पहले चुनाव कराने की गुंजाइश बन पाएगी। उस दशा में यह संभव है कि मौजूदा ग्राम प्रधानों को काम करने के लिए और कुछ माह मिल जाएंगे। पंचायत चुनावों पर नजर रखने वालों का यही आकलन है।

यह भी पढ़ें—लूट की झूठी कहानी, पुलिस की जुबानी

ग्राम प्रधानों का पांच साल का कार्यकाल इसी साल 25 दिसंबर को पूरा हो रहा है जबकि जिला पंचायत चेयरमैन का अगले साल 13 जनवरी और 17 मार्च को ब्लाक प्रमुखों का कार्यकाल पूर्ण होगा।

राज्य निर्वाचन आयोग मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्यक्रम घोषित कर दिया है। उसके मुताबिक पहली अक्टूबर से यह कार्यक्रम शुरू होगा और 29 दिसंबर को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन होगा। उसके बाद निर्वाचन क्षेत्रों का परिसीमन फिर आरक्षण की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। फरवरी-मार्च में बोर्ड परीक्षा होगी। उसके बाद ही आयोग चुनाव की तिथि घोषित करने की स्थिति में होगा।

ग्राम प्रधानों का कार्यकाल खत्म होने के बाद जानकारों का मानना है कि सरकार अगला चुनाव होने तक ग्राम पंचायतों के संचालन के लिए प्रशासनिक कमेटियों का गठन कर सकती है। कमेटियों में निवर्तमान ग्राम प्रधानों तथा ग्राम पंचायत सदस्यों को रखा जा सकता है।

गाजीपुर में कुल 1237 ग्राम पंचायतें हैं। इन ग्राम पंचायतों में अगले चुनाव को लेकर सरगर्मी भी शुरू हो चुकी है। ज्यादातर मौजूदा प्रधान दोबारा कुर्सी पर बैठने के लिए अभी से जोड़तोड़ करने लगे हैं। उनके पिछले चुनाव में प्रतिद्वंद्वी रहे उम्मीदवार भी अगले चुनाव में अपनी हार का हिसाब पूरा करने की जुगत में लग गए हैं। इनके अलावा नए उम्मीदवार भी ताल ठोक दिए हैं।  

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort