परिवहनब्रेकिंग न्यूजराजनीति

सुहेलदेव जहां की तहां, बलिया को नई ट्रेन

गाजीपुर (राहुल पांडेय)। सांप भी मर गया और लाठी भी नहीं टूटी। गाजीपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली सुहेलदेव एक्सप्रेस यथावत रह गई और बलिया को दिल्ली के लिए नई ट्रेन की सौगात मिल गई।

यह भी पढ़ें—तबादला एक्सप्रेस: पश्चिम से पूरब

बलिया के सांसद विरेंद्र सिंह मस्त कुछ माह पहले तक यही रट धरे रहे कि गाजीपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली सुहेलदेव एक्सप्रेस का मार्ग विस्तार कर बलिया तक चलाई जाए। इस प्रस्ताव में राज्यसभा सांसद नीरज शेखर का भी उनको साथ मिला। इन दोनों सांसदों का दबाव पड़ना और इत्तेफाकन बलिया के ही मूल निवासी वीके यादव का रेलवे बोर्ड का चेयरमैन होना। ऐसे में यह लगभग तय माना जा रहा था कि सुहेलदेव एक्सप्रेस गाजीपुर से बलिया के लिए बढ़ जाएगी। इस आशंका और अपने गाजीपुरियों की भावनाओं को समझ प्रमुख युवा समाजसेवी विवेक सिंह शम्मी सड़क पर उतर पड़े थे। इस प्रस्ताव को खारिज करने के लिए अभियान चलाकर ज्ञापन पर हजारों लोगों के हस्ताक्षर करवाए थे और डीएम के माध्यम से रेलमंत्री को प्रेषित किए थे।

उसी क्रम में पूर्व रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा पर भी जनदबाव पड़ने लगा कि वह अपने प्रभाव से कोई तरकीब निकालें कि बलिया के सांसदों का वह प्रस्ताव जहां का तहां रह जाए। बताते हैं कि श्री सिन्हा ने तब गाजीपुर के लोगों को पूरी तरह आश्वस्त किया था कि उनकी इच्छा के विपरीत कुछ नहीं होगा।

मालूम हो कि मनोज सिन्हा रेल राज्य मंत्री बनने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र गाजीपुर के लोगों को एक्सप्रेस ट्रेनों की सौगात के रूप में पहली ट्रेन सुहेलदेव एक्सप्रेस गाजीपुर सिटी से दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल के बीच चलवाए थे। इस एक्सप्रेस के चलने से गाजीपुर के लोगों की पुरानी जरूरत पूरी हुई थी। शायद यही वजह है कि आज भी सुहेलदेव एक्सप्रेस रेलवे के अपेक्षित लोड फैक्टर के मानक को पूरा कर रही है।

अब जबकि सुहेलदेव एक्सप्रेस की परिचालन व्यवस्था में कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है और बलिया से सीधे दिल्ली के लिए रेलवे ने एक नई ट्रेन को मंजूरी दे दी है तो गाजीपुर के लोग भी खुश हैं। इनकी यह खुशी और भी बढ़ गई है कि बलिया के लिए मंजूर नई ट्रेन आते जाते गाजीपुर सिटी से ही गुजरेगी और इसका भी लाभ इन्हें मिलेगा।

हांलाकि रेलवे ने विभिन्न प्रमुख मार्गों पर जिन 19 जोड़ी हमसफर एक्सप्रेस की क्लोन स्पेशल ट्रेनों के परिचालन शुरू करने की घोषणा की है। उसी सूची में बलिया से दिल्ली को जाने वाली ट्रेन भी शामिल है लेकिन माना जा रहा है कि बलिया के सांसदगण इस ट्रेन की सेवा स्थाई कराने में कामयाब हो जाएंगे।   

नई ट्रेन का 21 से शुरू होगा परिचालन

बलिया से दिल्ली के बीच चलने वाली इस नई ट्रेन का परिचालन 21 सितंबर से शुरू होगा। यह ट्रेन सप्ताह में तीन दिन चलेगी। बलिया स्टेशन से यह मंगलवार, गुरुवार तथा शनिवार की शाम 2.10 बजे खुलेगी और वाया गाजीपुर सिटी, जौनपुर, प्रयागराज, कानपुर होते हुए दूसरे दिन सुबह 6.25 बजे दिल्ली पहुंचेगी। उधर दिल्ली से सोमवार, बुधवार और शुक्रवार की शाम छह बजे चल कर इसी रास्ते दूसरे दिन सुबह दस बजे बलिया पहुंचेगी। इस ट्रेन का किराया हमसफर एक्सप्रेस के किराये के बराबर देय होगा। ट्रेन में कुल 18 कोच होंगे। यह सभी वातानुकुलित होंगे। इसके लिए यात्रियों को अपना रिजर्वेशन दस दिन के भीतर कराना जरूरी होगा। यात्रियों को कोविड-19 के प्रोटोकॉल का भी पूरा ख्याल रखना होगा। मसलन ट्रेन के चलने से 90 मीनट पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा। मास्क लगाना होगा। मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप डॉउनलोड करना होगा। कोच में यात्रियों को बेडरोल उपलब्ध नहीं करया जाएगा।    

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort