खेलब्रेकिंग न्यूज

क्रिकेट: मनमानी खत्म, प्रदेश से दो रणजी खिलाड़ी पर्यवेक्षक नियुक्त

गाजीपुर। क्रिकेटरों के चयन में अब मनमानी नहीं चलेगी। गाजीपुर के भी होनहार खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। यूपी क्रिकेट एसोसिएशन ने गाजीपुर मंडल के लिए बतौर पर्यवेक्षक दो रणजी खिलाड़ी रंजीत यादव तथा नासिर अली की नियुक्ति की है।

यह भी पढ़ें—यौन शोषण किया ऐसे

गाजीपुर के क्रिकेट हलके में इस नियुक्ति को गाजीपुर डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष संजीव सिंह बंटी की जीत मानी जा रही है।

क्रिकेट प्रबंधन में गाजीपुर का दर्जा मंडल का है। यहां गाजीपुर सहित आस-पास के जिलों के अंडर-16 व अंडर-19 के खिलाड़ियों का आगे के लिए चयन होता है लेकिन कुछ साल से इसमें मनमानी की शिकायतें आ रही थीं। कहा जा रहा था कि ट्रायल में गाजीपुर के नाम पर इलाहाबाद तक के खिलाड़ियों को मैदान में उतारा जाता था और उनका चयन भी लगभग पक्का रहता था। इसके लिए इलाहाबाद से ही पर्यवेक्षक तय कर लाए जाते थे। इस खेल का नतीजा यह होता कि पड़ोसी जिले तो दूर गाजीपुर के भी होनहार खिलाड़ियों का हक मारा जाने लगा।

हर सत्र में ऐसी ही शिकायतें आने लगीं तब गाजीपुर डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों का माथा ठनका। पड़ताल में यह बात सामने आई कि इस मामले में एसोसिएशन के पूर्व सचिव मस्सीउद्दीन की भूमिका संदिग्ध है। बल्कि यह भी पता चला कि एसोसिएशन के रजिस्ट्रेशन के नवीनीकरण में लगभग सभी पदाधिकारियों को बेदखल कर चिटफंड ऑफिस में दूसरे नाम प्रस्तावित किए गए हैं। उन नामों में ज्यादातर पूर्व सचिव के परिवार और खानदान से जुड़े हैं।

उसके बाद तो अध्यक्ष संजीव सिंह बंटी की अगुवाई में अन्य पदाधिकारी हरकत में आ गए। चिटफंड ऑफिस में इस गड़बड़झाले की लिखित शिकायत की गई। इसी बीच श्री बंटी यह मामला उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन में ले गए। वहां उनकी शिकायत को गंभीरता से लिया गया। फौरी फैसला हुआ कि गाजीपुर मंडल में ट्रायल के लिए रणजी स्तर के दो खिलाड़ियों की पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्ति की जाए। दोनों पर्यवेक्षक तब तक रहेंगे जब तक चिटफंड ऑफिस कमेटी के मामले को निस्तारित नहीं कर देता है।

प्रदेश एसोसिएशन के इस फैसले का स्वागत करते हुए संजीव सिंह बंटी ने कहा है कि इस व्यवस्था से प्रतिभावान खिलाडियों के चयन की राह सुगम होगी। खासकर गाजीपुर के होनहार खिलाड़ियों संग किसी तरह की बेइमानी की गुंजाइश नहीं बनेगी। इन्हें आगे बढ़ने का बेहतर मौका मिलेगा।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort