अपराधब्रेकिंग न्यूज

कुख्यात सन्नी सिंह गैंग के और दो बदमाश दबोचे गए, सिर पर था 25 हजार का ईमाम

गाजीपुर। सैदपुर के बहुचर्चित देवचंदपुर कांड के दो और बदमाश उसी इलाके के धुवार्जन पुलिया के पास गुरुवार को तड़के धर दबोचे गए। इनके सिर पर 25 हजार रुपये का ईनाम घोषित था। इनके कब्जे से नाइन एमएम पिस्तौल तथा कार बरामद हुई।

इन दोनों बदमाशों में गौरव सिंह उर्फ सन्नी आजमगढ़ जिले के तरवां थाने के भिलिहीली और दूसरा देवेंद्र प्रताप राण उर्फ चंदन सिंह सादात थाना क्षेत्र स्थित मंगारी गांव का रहने वाला है। इनकी गिरफ्तारी सैदपुर, करंडा तथा स्वाट टीम की साझी कार्रवाई में  हुई।

यह भी पढ़ें–राकेश न्यायिक के विरुद्ध गैर जमानती वारंट

मालूम हो कि बीते 14 अक्टूबर की रात कर्मवीर उर्फ सन्नी सिंह गैंग के साथ अपने ही गांव देवचंदपुर के पेट्रोल पंप पर पहुंचा था। गैंग ने अपनी दोनों गाड़ियों में तेल भरवाया था। उसके बाद हुए नाहक विवाद में सन्नी और उसके शॉर्प शूटर आनंद उर्फ ढोलक सिंह ने गोली मारकर मौके पर मौजूद गांव के ही त्रिभुवन सिंह की हत्या और उनके सगे चचेरे भाई शिवमूरत को जख्मी कर दिया था। उसके बाद गैंग जाते वक्त पंप पर रखी लाइसेंसी राइफल, दो बंदूक, कैश बॉक्स की नकदी और पंप मालिक के भाई की सोने की चैन लूट लिए थे। उस मामले में पंप मालिक के भाई अजय पांडेय ने सन्नी सिंह तथा ढोलक सिंह को नामजद और 12 अज्ञात के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई  थी। घटना के बाद फरार गैंग सरगना सन्नी सिंह और ढोलक के सिर पर 50 हजार रुपये का ईनाम रखा गया। कुछ दिन बाद ही वह पकड़े गए। उनकी निशानदेही पर मौके से लूटे गए तीनों लाइसेंसी असलहे भी बरामद हो गए थे। उसके पूर्व घटना में शामिल रहे लालबहादुर उर्फ दीपक सिंह निवासी नारी पचदेवरा थाना करंडा तथा अमन उर्फ सूरज पांडेय देवापार झलरिया सादात को औड़िहार जंक्शन के पास से गिरफ्तार किया गया था।

एफआईआर में अज्ञात बदमाशों की पहचान पुलिस घटनास्थल के सीसीटीवी कैमरे से की थी। अब तक घटना में शामिल रहे सरगना सहित गैंग के कुल छह बदमाश गिरफ्तार हो गए हैं जबकि एक अन्य अरविंद सिंह कोर्ट में सरेंडर कर जेल जा चुका है। अरविंद गैंग सरगना सन्नी का भाई है। घटना के शेष सात अभियुक्तों की तलाश जारी है। इनमें सुंदर सिंह उर्फ धनजी पर 25 हजार का ईनाम भी घोषित है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort