अपराधब्रेकिंग न्यूज

…और ऐसे खुलती गई मठिया की मर्डर मिस्ट्री

गाजीपुर। बहरियाबाद थाने के खाजेपुर मठिया गांव में दलित किशोरी की हत्या का राज खुल गया है। जबरिया दुष्कर्म की कोशिश में प्रतिकार करने पर कामांध युवक ने उसे मौत की नींद सुलाया था। पुलिस ने उस युवक को बुधवार की सुबह बहरियाबाद बाजार के पानी टंकी के पास गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें—नसबंदी के बाद चलबसी

दोपहर में पुलिस कप्तान डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने गिरफ्तार युवक भीम राम को मीडिया के सामने पेश किया। बताए कि भीम ने अपना जुर्म भी कबूल लिया है।  किशोरी पर उसकी पहले से ही बुरी निगाह थी। रविवार की सुबह किशोरी शौच के लिए कटे धान के खेत में बैठी ही थी कि वह पीछे से उसके पास पहुंचा और उसे दबोच लिया। तब किशोरी उसका प्रतिरोध करते हुए धमकी दी कि वह उसे नहीं छोड़ा तो शोर मचाएगी इससे भीम घबरा गया। फिर किशोरी के मुंह को एक हाथ से बंद कर दिया और दूसरे हाथ से शरीर के ऊपरी कपड़े को खींचते हुए करीब 20 मीटर दूर ले जाकर उसको पटक दिया। उसके बाद किशोरी के सीने पर बैठ कर दोनों हाथों से उसका गला दबा दिया। साथ ही उसके गले में अपना दांत भी घुसा दिया। कुछ ही देर में निढाल हो गई। फिर भीम वहां से भाग गया। किशोरी की छटपटाहट में उसके हाथ के नाखून से भीम के दाहिने हाथ में भी जख्म हो गए थे।

उधर किशोरी के घर नहीं लौटने पर उसकी मां ढूंढते हुए मौके पर पहुंची थी। उसकी चीख पर आसपास के लोग भी पहुंचे थे। जाहिर था कि पुलिस के लिए यह पेंचिदा मामला था। शुरुआती तफ्तीश़ में पुलिस को यह अंदाजा मिल गया कि हत्यारा गांव का ही है। उसी आधार पर पुलिस अपनी तफ्तीश़ आगे बढ़ाई। पता चला कि किशोरी की बस्ती का युवक घटना के बाद से लापता है। पुलिस संदिग्ध मान कर उसकी तलाश शुरू की और मर्डर मिस्ट्री को सॉल्व कर ली। भीम शादीशुदा बताया गया है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort