ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

आका से ‘आशीर्वाद’ लेकर आए फिर भी थाना इंचार्ज नहीं बन पाए

गाजीपुर।  पुलिस कप्तान डॉ. ओपी सिंह ने बुधवार की रात एक इंस्पेक्टर सहित सात पुलिस कर्मियों को नई तैनाती की।

भांवरकोल थाने की मच्छटी चौकी के इंचार्ज नंदलाल कुशवाहा को बरेसर थाने की बाराचवर चौकी का प्रभार मिला है। यह तैनाती ओंमकार तिवारी के स्थान पर हुई है जिन्हें मच्छटी चौकी की जिम्मेदारी सौपी गई है। इनके अलावा पुलिस लाइन में रहे हेड कांस्टेबल राजपति पटेल को खानपुर थाने पर भेजा गया है। इसी तरह सैदपुर कोतवाली में रहे हेड कांस्टेबल कृष्णानंद यादव को करंडा थाने की खिदिरपुर चौकी पर तैनाती मिली है। कांस्टेबल अखिलेश कुमार को गहमर थाने के पीआरवी से अटैच किया गया है जबकि कांस्टेबल योगेश गौतम को शहर कोतवाली से गहमर थाने के लिए स्थानांतरण के पूर्व आदेश को निरस्त कर नंदगंज पीआरवी के लिए नया आदेश जारी किया गया है।

यह भी पढ़े—मुख्तार का ‘नन्हे’ ऐसे बना धनवान

इस क्रम में इंस्पेक्टर कमलेश कुमार को मिली तैनाती को लेकर महकमे में चर्चा है। कमलेश कुमार सोनभद्र में लंबी पाली खेल कर कुछ ही दिन पूर्व स्थानांतरित होकर गाजीपुर पुलिस लाइन में आमद कराए थे। बताते हैं कि सोनभद्र से रवानगी से पहले वहां के विभागीय साथियों से वह अपने ‘आका’ का हवाला देते हुए ऐलानिया कहे थे कि गाजीपुर पहुंच कर कोई अहम थाना संभालेंगे। इसके लिए वह गाजीपुर में आमद कराने से पहले अपने आका को सलामी ठोकना भी नहीं भूले थे लेकिन पुलिस कप्तान की ओर से जारी इस नई गस्ती में जनाब को गंगा पार सुहवल थाने का अतिरिक्त प्रभारी निरीक्षक बना कर भेजा गया है।

हालांकि कहा यह जा रहा है कि कमलेश कुमार की यह तैनाती स्थाई नहीं है। वहां के इंचार्ज विवेक कुमार श्रीवास्तव कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव निकलने के बाद आईसोलेशन में चले गए हैं। उनके अलावा सुहवल थाने के अन्य आठ पुलिस कर्मी भी कोरोना संक्रमित हुए है।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort