अपराधब्रेकिंग न्यूज

अंसारी बंधुओं के विरोध में प्रधान बना फिर उनसे जुड़ कर संपति बनाया और अब गया जेल

बारचवर (गाजीपुर)। अंसारी बंधुओं के खास और महेंद गांव के प्रधान प्रतिनिधि मेहरूद्दीन उर्फ नन्हे खां को पुलिस गुरुवार की सुबह गिरफ्तार की। उसके बाद कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया। नन्हे खां पर गांव से गुजर रही मगई नदी में नाजायज तरिके से पुल बनाने का मामला दर्ज था। उसमें पुलिस को उसकी तलाश थी। और उस पर 25 हजार रुपये का ईनाम घोषित था।

पुलिस कप्तान डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि मगई नदी में मछली मारने के लिए नन्हे पुल के नाम पर बांध बनवा रहा था। उस पुल की वजह से नदी के रुके पानी से आस पास के खेत की फसल डूबने का खतरा बन गया था। ग्रामीणों की शिकायत पर राजस्व अधिकारी मौके पर पहुंचे थे और जांच पड़ताल के बाद बीते दो जुलाई को निर्माणाधीन पुल को ढहवा दिए थे। साथ ही उसके खिलाफ लोक संपत्ति क्षति निवारण के तहत करीमुद्दीनपुर थाने में मामला दर्ज किया गया था। नन्हे के कब्जे से मय कारतूस तमंचा भी मिला। गिरफ्तारी महेंद स्थित उसके घर से हुई। उसके लिए करीमुद्दीनपुर थाने के अलावा मुहम्मदाबाद कोतवाली की भी पुलिस फोर्स वहां पहुंची थी। फोर्स की अगुवाई सीओ मुहम्मदाबाद विनय गौतम कर रहे थे।   

यह भी पढ़े—पूर्व मंत्री को भाजपा नेता का जवाब

उधर महेंद के लोगो के मुताबिक नन्हे खां गांव के पश्चिम महाल का है। दस साल पहले प्रधानी के चुनाव में अंसारी बंधुओं के करीबी तत्कालीन प्रधान अफताब के खिलाफ खड़ा हुआ था। तब पहली बार प्रधान पद पर कब्जा जमाने के लिए पश्चिम महाल के लोग भी उसके पक्ष में लामबंद हो गए थे। नतीजा अंसारी बंधुओं के करीबी तत्कालीन प्रधान अफताब को हार का मुंह देखना पड़ा था। प्रधान चुने जाने के बाद नन्हे अंसारी बंधुओं के पाले में चला गया था। फिर तो उसकी संपत्ति बेहिसाब बढ़ने लगी। दो पहीया की जगह लग्जरी चार पहिया, जेसीबी का मालिक बन गया।

जाहिर था कि नन्हे की बेहिसाब बढ़ती संपत्ति गांव के बड़कवों की आंखों में खटकने लगी। जाने-अनजाने खुद नन्हे भी उन्हें मौका देने लगा। भू-खण्डो पर अवैध कब्जे, ग्राम पंचायत में अनियमितता की शिकायतें सामने आने लगी। बावजूद अंसारी बंधुओं की क्षत्रछाया के चलते उसका कुछ नहीं बिगड़ा और वह प्रधान पद पर काबिज रहा। बल्कि पिछले चुनाव में वह अपनी पत्नी कमरूननिशा को प्रधान बनाने में कामयाब रहा।

अब जबकि नन्हे जेल पहुंच गया है तो गांव में उसके विरोधी खुश हैं और अगले प्रधानी चुनाव में उसे पटकनी देने के मंसुबे भी बनाने शुरू कर दिए है। इधर पुलिस महकमा भी मुख्तार अंसारी गैंग के करीबी नन्हे को गिरफ्तार कर अपनी बड़ी कामयाबी मान रहा है।  

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort