ब्रेकिंग न्यूजशासन-प्रशासन

अंसारी परिवार का गाजीपुर शहर में पहला निजी निर्माण था ‘गजल’

गाजीपुर। अंसारी बंधुओं के विरुद्ध योगी सरकार की सख्ती जारी है। रविवार की सुबह शहर के महुआबाग स्थित होटल गजल का बड़ा हिस्सा ध्वस्त कर दिया गया। गजल अंसारी बंधुओं के लिए कई मामलों में अहम था। पहला गवाह था उनकी आर्थिक बुलंदी का। पहला निर्माण था उनके लिए गाजीपुर शहर का। मुख्य केंद्र था उनके चुनाव अभियानों का और था उनके खैरख्वाहों का महफूज ठिकाना।

यह भी इत्तेफाक ही कहा जाएगा कि गजल की नींव पड़ी थी तब सूबे में भाजपा की ही सरकार थी और अब जबकि गजल का बड़ा हिस्सा ध्वस्त किया गया तब भी सूबे में भाजपा की ही सरकार है। गजल का निर्माण साल 2001 में शुरू हुआ था।

यह भी पढ़ें–…और बोले सांसद अफजाल अंसारी

जाहिर है कि उसके निर्माण के पीछे अंसारी परिवार का मकसद व्यवसायिक ही रहा होगा मगर इस मामले में गजल खरा नहीं उतरा। शायद यही वजह रही कि कई बार रिलॉचिंग हुई लेकिन गजल और उसका रेस्टोरेंट आम ग्राहकों को कभी आकर्षित नहीं किया। अलबत्ता, गजल के भूतल की दुकानें जरूर उठ गईं। ऊपर के तल के एक हिस्से में एचडीएफसी बैंक की शाखा, नीचे उसका एटीएम और सबसे ऊपर छत पर एक निजी कंपनी का टेलीफोन टॉवर भी लग गया था।

होटल के कमरों का इस्तेमाल मुख्तार से जुड़े लोग ही करते। सांसद अफजाल अंसारी के चुनाव अभियानों में समर्थकों, कार्यकर्ताओं की बैठकें होतीं। उस वक्त गजल की छत पर उनकी पार्टी के झंडे, बैनर भी लहराते। सरकारी दस्तावेजों में गजल के मालिकानों में मुख्तार अंसारी की पत्नी आफ्शां अंसारी तथा दोनों बेटों अब्बास अंसारी व उमर अंसारी का नाम दर्ज है।

तीन घंटे तक चला ध्वस्तीकरण

गाजीपुर शहर के महुआबाग स्थित होटल गजल को ढहाने का काम रविवार की सुबह करीब सात बजे शुरू हुआ और दस बजे तक चला। ध्वस्तीकरण के लिए सीमांकन का काम शनिवार की देर शाम डीएम की अगुवाई वाली आठ सदस्यीय बोर्ड का फैसला आने के बाद ही कर लिया गया था। उसके तहत भूतल में उत्तरी हिस्सा और ऊपर का पूरा हिस्सा ढाह दिया गया।

काम आए एनएचएआई, रेलवे के पोकलेन

होटल गजल को भी ढहाने में एनएचएआई की ओर से बनाए जा रहे वाराणसी-गोरखपुर फोरलेन और रेलवे के आरबीएनएल की ओर से बनवाए जा रहे गंगा पुल में काम आ रहे कुल पांच पोकलेन का इस्तेमाल हुआ। अगर यह उपलब्ध नहीं होते तो तय है कि प्रशासन को गजल के हिस्से को ढहाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ती। इसके पहले शम्मे हुसैनी हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेंटर को भी ध्वस्त करने में उन्हीं पोकलेनों का इस्तेमाल हुआ था।

…और डीएम ने किया ट्विट

होटल गजल के ध्वस्तीकरण का काम पूरा होने के बाद डीएम गाजीपुर एमपी सिंह ने ट्विटर के आधिकारिक हैंडल पर लिखा-‘‘बाहुबली मुख्तार अंसारी के गजल होटल पर चला जिला प्रशासन का बुल्डोजर, जिससे भू माफियाओं में भय का माहौल बना’’।

Related Articles

Back to top button
AllEscortAllEscort